Wednesday, Oct 27, 2021
-->
manoj-prabhakar-said-i-will-not-have-to-go-to-delhi-like-me

मनोज प्रभाकर बोले मेरी तरह दिल्ली नहीं जाना पड़ेगा, गाजियाबाद में ही दूंगा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की क

  • Updated on 9/23/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। मैं खुद गाजियाबाद का हूं, यहां के खिलाडिय़ों को उभारने के लिए यहीं बस जाउंगा। यह कहना था पूर्व अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ी मनोज प्रभाकर का। मनोज प्रभाकर गाजियाबाद में ही जन्में हैं। वीरवार को वह नेहरू स्टेडियम पहुंचे जहां उन्होंने गाजियाबाद में क्रिकेट और क्रिकेटरों के भविष्य को लेकर अपनी योजनाओं को मीडिया के सामने रखा। जिसमें उन्होंने जोर दिया कि वह शहर में क्रिकेट प्रतिभाओं को निखारने के लिए जरूरी कदम उठाएंगे जिससे ना सिर्फ क्रिकेटर निखरें बल्कि आगे भी बढ पाएं। 

अब खिलाडिय़ों को बाहर नहीं जाना पडेगा
मनोज प्रभाकर ने कहा कि वह ऐसी क्रिकेट एकेडमी बनाने पर विचार कर रहे हैं। जहां खिलाडिय़ों को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की तैयारी कराई जा सके। उन्होंने कहा कि सुरेश रैना के बाद गाजियाबाद से कोई बड़ा खिलाड़ी अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर नहीं पहुंच सका। लेकिन सुरेश रैना ने भी अपनी तैयारी लखनऊ में की थी। वह खुद कोचिंग के लिए दिल्ली जाते थे। ऐसे में खिलाडिय़ों का मनोबल बढाने के लिए जरूरी है कि उन्हें गाजियाबाद में ही अच्छी से अच्छी सुविधाएं मुहैया कराई जाएं। मनोज प्रभाकर ने कहा कि वह जिस एकेडमी की योजना पर काम कर रहे हैं। वहां मैदान के अलावा जिम व फिजियोथेरेपिस्ट जैसी सुविधाएं भी होंगी। 
 

आईपीएल की बजाय रणजी की तरफ युवाओं को लाना है
मनोज प्रभाकर ने कहा कि आईपीएल के आने से क्रिकेट का चेहरा पूरी तरह से बदल गया है। खिलाड़ी अब रणजी, देवधर ट्रॉफी जैसी प्रतियोगिताओं को खेलने के बजाय आईपीएल ज्यादा खेलने के लिए उत्साहित रहते हैं। उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य खिलाडिय़ों को रूख वापस शुद्ध क्रिकेट की तरफ मोडऩा होगा। जहां खिलाडी मानसिक तौर पर और शारीरिक तौर पर लंबे समय तक मजबूत रहें। इसके अलावा पारंपरिक क्रिकेट को फिर से खिलाडिय़ों के बीच स्थापित किया जा सके। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.