Tuesday, Sep 27, 2022
-->
market rises for the sixth consecutive day, sensex rises 293.33 points, nifty crosses 16,600

बाजार में लगातार छठे दिन तेजी, सेंसेक्स 293.33 अंक चढ़ा, निफ्टी 16,600 के पार

  • Updated on 7/22/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सकारात्मक वैश्विक संकेतों और विदेशी निवेशकों की भागीदारी बढ़ने से उत्साहित घरेलू शेयर बाजार में लगातार छठे दिन तेजी रही और दोनों प्रमुख सूचकांकों ने शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में बढ़त दर्ज की।     

तीस कंपनियों की भागीदारी वाला सूचकांक बीएसई सेंसेक्स 293.33 अंक की बढ़त के साथ शुरुआती कारोबार में 55,975.28 अंक पर पहुंच गया। इसी तरह एनएसई का मानक सूचकांक निफ्टी भी 92.5 अंकों की बढ़त के साथ 16,697.75 अंक पर कारोबार कर रहा था।

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से कोटक महिंद्रा बैंक, एचडीएफसी, टाइटन कंपनी, अल्ट्राटेक सीमेंट, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज में खरीदारी होने से इनके शेयर चढ़ गए। वहीं इंफोसिस, इंडसइंड बैंक, एनटीपीसी और आईटीसी के शेयर नुकसान में कारोबार कर रहे थे।

एशिया के अन्य बाजारों में टोक्यो और हांगकांग के सूचकांक भी बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे हालांकि सियोल और शंघाई नुकसान में रहे। एक दिन पहले, बृहस्पतिवार को अमेरिकी बाजार भी बढ़त के साथ बंद हुए थे। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.08 प्रतिशत चढ़कर 104.96 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुद्ध खरीदारी की। उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी निवेशकों ने बृहस्पतिवार को 1,799.32 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की खरीद की। पिछले सत्र में, बृहस्पतिवार को तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 284.42 अंक यानी 0.51 प्रतिशत की तेजी के साथ 55,681.95 अंक पर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 84.40 अंक यानी 0.51 प्रतिशत चढ़कर 16,605.25 अंक पर बंद हुआ था।

रुपया सात पैसे कमजोर होकर 79.92 पर पहुंचा

विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर की मजबूती और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों की वजह से रुपया शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में सात पैसे कमजोर होकर 79.92 रुपये प्रति डॉलर के भाव पर आ गया। अंतर- बैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 79.90 के भाव पर खुला लेकिन थोड़ी ही देर में यह 79.92 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया। इस तरह एक दिन पहले की तुलना में रुपये में सात पैसे की कमजोरी आ गई।

बृहस्पतिवार को कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट और विदेशी पूंजी का निवेश बढऩे के कारण रुपया अपने ऐतिहासिक निचले स्तर से उबरकर और 20 पैसे सुधरकर 79.85 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। इस बीच, छह मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की मजबूती को आंकने वाला डॉलर सूचकांक 0.01 प्रतिशत बढ़कर 106.54 पर रहा।

अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा एक प्रतिशत मजबूत होकर 104.90 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।विदेशी निवेशक बृहस्पतिवार को भी शुद्ध लिवाल बने रहे। उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 1,799.32 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध खरीदारी की।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.