Tuesday, Dec 06, 2022
-->
markets are starting to look bright, after corona, traders expect an increase in business

बाजारों में लौटी रौनक, कोरोना के बाद व्यापारियों को व्यापार में बढ़त की उम्मीद

  • Updated on 9/27/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नवरात्र के पहले दिन से दिवाली का त्यौहारी सीजन शुरू हो गया है और इससे दिल्ली सहित देश भर के व्यापारियों को बड़ी उम्मीद है कि कोरोना काल के दो वर्ष बाद इस बार दिवाली त्यौहारी सीजन में अच्छी बिक्री होगी। इस वर्ष सामानों की बढ़ती मांग की सम्भावना के मद्देनजऱ अपने यहां पर्याप्त स्टॉक, विभिन्न प्रकार के उत्पादों का व्यापक प्रबंध भी किया है। ख़ास बात है कि बाजारों में मौटे तौर पर इस बार चीनी सामान के विकल्प में भारतीय उत्पाद नजर आएंगे।

कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स ने कहा कि कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया ने देश भर के व्यापारियों से आग्रह किया है की आजादी के अमृत महोत्सव काल में इस वर्ष की दिवाली को विशुद्ध रूप से भारतीय दिवाली, लोकल दिवाली के रूप में मनाएं।

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा, दिवाली पर चीन से आने वाले सामान के न आने से चीन को लगभग 75 हजार करोड़ रुपये के व्यापार का नुकसान संभावित है। न केवल व्यापारी बल्कि भारतीय उपभोक्ता भी अब चीनी सामान से कतराने लगे हैं जो देश की अर्थव्यवस्था के लिए बेहद अच्छा संकेत है। सदर बाजार के सजावटी सामान विक्रेता मंगा सिंह बताते हैं कि ग्राहक भारतीय सामान बोलकर मांग रहे हैं यह अच्छे संकेत हैं।  

दिवाली त्यौहार सीजन में खास तौर पर मिटटी के दिए, रेडीमेड गारमेंट्स, कपड़े, गिफ्ट आइटम्स, एफएमसीजी प्रोडक्ट्स, रोजमर्रा की जरूरत की वस्तुएं, सौंदर्य प्रसाधन, कन्फेक्शनरी, मिठाई-नमकीन, फल, ड्राई फ्रूट, घर में साज सज्जा की वस्तुएं, बिजली की लडिय़ां, सजावटी बल्ब सहित कई सामान की मांग होती है।

फतेहपुरी क्लाथ मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान गोपाल गर्ग बताते हैं, इस बार 25-30 प्रतिशत व्यापार बढ़ा हुआ दिख रहा है। दिपावली तक उम्मीद है कि कामकाज और अच्छा होगा। आल इंडिया ज्वेलर्स एंड गोल्डस्मिथ फेडरेशन के अध्यक्ष पंकज अरोड़ा ने बताया कि सर्राफा बाजारों ने पूरी तैयारी की है और सोने- चांदी की बिक्री में इस बार लगभग 20 प्रतिशत बढ़ोतरी की उम्मीद है।

comments

.
.
.
.
.