मायावती ने भतीजे आकाश आनंद को लेकर मीडिया पर निकाली भड़ास

  • Updated on 1/17/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनंद को पार्टी की विरासत सौंपने की खबरों को लेकर मीडिया पर जमकर भड़ास निकाली है। उन्होंने साफ कहा कि कुछ टीवी चैनल दलित विरोधी मानसिकता से ग्रसित हैं। कुछ मीडिया ग्रुप को मायावती ने चेतावनी तक दे डाली। 

चीफ जस्टिस गोगोई के निशाने पर क्यों आए प्रशांत भूषण?

उन्होंने कहा कि अगर मीडिया के दलित विरोधी एक तबके को ऐतराज है तो इसकी चिंता बसपा नहीं करती है। बसपा सुप्रीमो ने आगे कहा, 'मैं कांशीराम की चेली हूं और उनकी तर्ज पर जैसे को तैसा उत्तर देना जानती हूं।' इसके साथ ही उन्होंने घोषणा कि वह अपने भतीजे आकाश को पार्टी मूवमेंट में शामिल करेंगी। इस दौरान उसे सीखने का मौका मिलता रहेगा। 

BCI ने जस्टिस खन्ना को सुप्रीम कोर्ट का न्यायाधीश बनाने का किया विरोध

मायावती ने साफ कहा, 'कुछ लोग सीधी सियासी लड़ाई लड़ने के बजाए हमारे खिलाफ गलत बयानी कर रहे हैं। दलित विरोधी मानसिकता रखने वाले खबरिया चैनलों के साथ षड्यंत्र करके शरारती खबरें भी दिखाना शुरू कर दिए हैं,  ताकी पार्टी और उसके पार्टी नेतृत्व को बदनाम किया जा सके।' 

अरुणाचल के पूर्व CM अपांग ने भाजपा छोड़ी, मोदी-शाह पर उठाए सवाल

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि गरीबों के द्वारा केक खाने को लूट बताकर बदनाम किया। इसी तरह छोटे भाई के बेटे आकाश को लखनऊ में मेरे साथ पार्टी में शामिल रहने को लेकर मेरे उत्तराधिकारी के तौर पर पेश करना, यह सब बसपा विरोधी साजिश है। मायावती ने बकायदा एक चैनल के नाम का भी जिक्र किया। 

आम्रपाली ग्रुप फॉरेंसिक आडिट में फंसा, चौंकाने वाले हैं खुलासे

उन्होंने कहा कि युवा भतीजे को जानबूझकर विवाद में लपेटा जा रहा है। दरअसल भाई आनंद और उनके परिवार ने 24 घंटे बसपा के लिए काम किया है। इसलिए पार्टी की सलाह पर हमने कुछ वक्त पहले आनंद को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया था। हालांकि परिवारवाद का आरोप नहीं लगे, इसलिए उन्होंने खुद ही पद त्याग दिया। 

गणतंत्र दिवस समारोह: AAP का राष्ट्रपति पर सौतेला रवैया अपनाने का आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.