Tuesday, Aug 09, 2022
-->
mayawati-said-about-enlightened-conferences-bjp-is-copying-bsp-rkdsnt

प्रबुद्ध सम्मेलनों को लेकर मायावती बोलीं- बसपा की नकल कर रही है भाजपा

  • Updated on 9/4/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि पार्टी के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन की कामयाबी से भारतीय जनता पार्टी के लोग काफी दुखी हैं और अब वह बसपा की नकल कर अपनी पार्टी के ऐसे ही सम्मेलन आयोजित करने जा रहे हैं ।

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों के ‘भारत बंद’ को वाम दलों का मिला समर्थन

गौरतलब हैं कि बहुजन समाज पार्टी 22 जुलाई से प्रदेश के विभिन्न जिलों में प्रबुद्ध वर्ग विचार गोष्ठी का आयोजन कर रही हैं, जिसके पहले चरण का समापन सात सितंबर को होगा। भारतीय जनता पार्टी ने भी पांच सितंबर से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में प्रबुद्ध सम्मेलन आयोजित करने की घोषणा की हैं । सम्मेलन को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित राष्ट्रीय व प्रदेश के पदाधिकारी तथा कई केन्द्रीय मंत्री सम्बोधित करेंगे। 

ABP Cvoter Survey : पंजाब में AAP आगे, यूपी में भाजपा को बढ़त

भाजपा की उत्तर प्रदेश इकाई के अनुसार पांच सितम्बर को प्रदेश के 17 महानगरों में व छह सितम्बर से 20 सितम्बर के बीच प्रदेश के सभी 403 विधानसभाओं में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन आयोजित किया जाएगा।   मायावती शुक्रवार को एक हिन्दी समाचार चैनल द्वारा उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनावों पर दिखायें गये सर्वे से काफी नाराज हैं । इस सर्वे में भाजपा द्वारा पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की संभावना दिखायी गयी है जबकि बहुजन समाज पार्टी को काफी पीछे दिखाया गया है।  

पेंशनभोगियों ने अपने मामलों को उठाने के लिए बनाया संयुक्त मंच

मायावती ने शनिवार को कहा कि एक चैनल द्वारा प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने पर भाजपा का वोट 40 प्रतिशत से अधिक दिखाया गया है । उन्होंने कहा कि चुनाव पूर्व सर्वे पूरी तरह से प्रायोजित, शरारतपूर्ण व भ्रमित करने वाला लगता हैं । इस सर्वेक्षण का उदेश्य भाजपा को मजबूत दिखाने से ज्यादा बसपा के लोगो का मनोबल गिराना लगता हैं जबकि बसपा के लोग पहले से इस प्रकार के षडयंत्रों का सामना करने के लिये हमेशा तैयार रहते हैं । 

मीडिया द्वारा खबरों को साम्प्रदायिकता का रंग देने पर SC ने जताई चिंता, मेहता से पूछे सवाल

बसपा नेता ने कहा कि पार्टी को अपने कार्यकर्ताओं पर पूरा पूरा भरोसा है। प्रदेश में दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों , मुस्लिम व अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों के साथ साथ ऊंची जाति के समाज खासकर ब्राहमण समाज भाजपा के भेदभाव व पक्षपातपूर्ण रवैये से दुखी होकर अब सर्वजन ‘हिताय व सर्वजन सुखाय’ के लिये बसपा के साथ काफी तेजी से जुड. रहा हैं । उसे भाजपा की ही नही बल्कि सपा व कांग्रेस तथा अन्य की बौखलाहट स्पष्ट रूप से बढी हैं ।   उन्होंने कहा कि अति मंहगाई, गरीबी, बेरोजगारी की मार आदि से काफी लंबे समय से यहां के लोगों का जीवन त्रस्त कर दिया हैं, जिससे अब भाजपा के प्रति व्यापक जनआक्रोश व्याप्त है और उसकी लोकप्रियता भी काफी गिरी है।

किसानों की उपज को लेकर RSS से जुड़े संगठन ने किया देशव्यापी धरने का ऐलान

comments

.
.
.
.
.