Wednesday, Mar 03, 2021
-->
mayawati said up govt should take strict action against culprits of muradnagar incident pragnt

श्मशान घाट हादसा: मायावती ने की योगी सरकार से अपील- दोषियों को दें सख्त सजा

  • Updated on 1/4/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। गाजियाबाद (Ghaziabad) के मुरादनगर (Muradnagar) में श्मशान घाट में एक इमारत की छत गिरने से बड़ी संख्या में लोगों की मौत की घटना से पूरे देश में दुख का माहौल है। इस घटना पर बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने भी दुख व्यक्त किया है और राज्य की योगी सरकार (Yogi Government) से मामले में जांच कराने की मांग की है।     

डॉ हर्षवर्धन ने कहा- कोरोना वैक्सीन पर शर्मनाक है अखिलेश, थरूर और जयराम की सियासत

मायावती ने जताया दुख
बसपा अध्यक्ष ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा, 'उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के मुरादनगर में श्मशान घाट में एक इमारत की छत गिरने से 23 लोगों की मौत की घटना अति दर्दनाक और कष्टदायक है। पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना है। ईश्वर उन्हें इस दुख को सहन करने की शक्ति दे।'

हमने कांग्रेस की तुलना में दोगुनी खरीद की MSP था, है और रहेगा : अनुराग ठाकुर

दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग
उन्होंने कहा, 'साथ ही, उत्तर प्रदेश सरकार इस घटना की सही व समय से जांच कराके इसके दोषियों को सख्त सजा जरूर दिलाए अर्थात् किसी को भी ना बचाये तथा पीड़ित परिवार को उचित आर्थिक मदद भी जरूर करे, बीएसपी की यही मांग है।' गाजियाबाद के मुरादनगर क्षेत्र में रविवार को श्मशान घाट में एक इमारत की छत गिरने से कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई है। 

मुरादनगर: जिस श्मशान घाट में हुआ हादसा उसी में आज 11 का होगा अंतिम संस्कार

अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे लोग
मुरादनगर के बंबा श्मशान घाट में रविवार के दिन जयराम की अंत्येष्टि में हुई घटना में 25 लोग मारे गए, जिसमें से 11 लोगों का अंतिम संस्कार उसी बंबा श्मशान घाट में आज होगा। उन्हें क्या पता था कि रविवार को जिस श्मशान घाट में वे किसी और के अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थें उसी श्मशान घाट में अगले दिन उनका ही अंतिम संस्कार होगा। बंबा श्मशान घाट में आज 11 लोगों की चिताएं एक साथ जलेंगी। 

किसान आंदोलन : सोनिया गांधी ने कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार पर फिर साधा निशाना

इन धाराओं में मामला दर्ज
बता दें कि गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मशान घाट की छत ढह जाने से एक बड़ा हादसा हुआ। इस हादसे में अबतक 25 लोगों की मौत हो गई है। हादसे में कई लोग घायल हुए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस मामले में मुरादनगर नगर पालिका EO निहारिका सिंह, जेई चंद्रपाल, सुपरवाइजर आशीष, ठेकेदार अजय त्यागी और अन्य अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इनके खिलाफ धारा  304, 337, 338, 427, 409 के तहत मुरादनगर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है।

कैलाश विजयवर्गीय के ट्वीट पर भड़की TMC, कहा- BJP ने फिर दिखाया अपना रंग

CM योगी ने मामले की मांगी रिपोर्ट
दरअसल कल दोपहर तक गाजियाबाद में श्मशान घाट के लेंटर गिरने से 23 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 8 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। यह घटना तब हुई जब श्मसान घाट में एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार में शामिल होने कुछ लोग पहुंचे थे। तभी तेज बारिश से बचने के लिए लोग छत के नीचे पहुंचे। लेकिन तभी लेंटर भरभराकर गिर गया। वहीं अब तक 38 लोगों को बाहर निकाला जा चुका है। उधर सीएम योगी ने मामले की रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने राहत के कार्य को तेज करने का भी आदेश दिया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने गाजियाबाद के इस हादसे पर संवेदना जाहिर की है।

विपक्षी दलों के नेताओं ने कोरोना वैक्सीन के सीमित इस्तेमाल पर जताई चिंता

पीएम मोदी ने जताया दुख
इस घटना के लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, 'उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है। राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटी है। इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'

बॉर्डर पर बढ़ी कड़ी चौकसी से परेशान हुए पाकिस्तानी आतंकी संगठन, आनलाइन शुरू की ये तकनीक

11 का होगा अंतिम संस्कार
घटना के खबर मिलते ही तुरंत गाजियाबाद पुलिस और रेस्क्यू ऑपरेशन रवाना हुई। फिर बचाव कार्य में मुश्तैदी से जुट गई है। इस हादसे के बाद उखलारसी गांव के अलावा मुरादनगर का हर व्यक्ति दुखी है। जिन लोगों को इस घटना के बारे में पता चला वह एक दूसरे से दुख बांटता हुआ नजर आया। सबसे बड़ा दुख यह होगा कि बंबा श्मशान घाट एक साथ 11 सामूहिक चिताओं के जलने का गवाह बनेगा।

स्थानीय लोगों का कहना है कि श्मशान घाट में हुए हादसे में मरने वाले लोग आसपास के ही रहने वाले हैं। उनका अंतिम संस्कार बंबा श्मशान घाट में ही होगा। लोगों का कहना है कि किसी ने नहीं सोचा था कि जो लोग अंतिम संस्कार कराने के लिए आए हैं, वह कभी वापस नहीं आएंगे।

ये भी पढ़ें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.