Monday, Jul 16, 2018

मायावती बोलीं- 'मिलिटेंट' स्वयंसेवकों पर इतना भरोसा तो मोहन भागवत को क्यों चाहिए सरकारी कमांडो?

  • Updated on 2/13/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत का सेना पर दिया गया बयान संघ और भाजपा की खूब फजीहत किए हुए है। इसको लेकर सियासत ही नहीं, सोशल मीडिया भी गर्म हो गया है। मोहन भागवत के साथ संघ की विचारधारा को भी निशाने पर लिया जा रहा है। 

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के खिलाफ सक्रिय हुए अल्पेश ठाकोर, दिया बड़ा चैलेंज

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सेना का अपमान करने के लिए मोहन भागवत से माफी तक की मांग की है। इसके साथ ही बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने भी संघ पर जमकर भड़ास निकाली है। मायावती ने तो मोहन भागवत को मिलने वाली सरकारी सुरक्षा पर भी सवाल उठाया है। 

Navodayatimes

बसपा सुप्रीमो ने कहा है कि मोहन भागवत के सेना और संघ के स्वयंसेवकों के बीच तुलना करना बेहद आपत्तिजनक ही नहीं, अपमानजनक भी है। उन्होंने कहा, 'भागवत को अगर अपने मिलिटेन्ट स्वयंसेवकों पर इतना ही भरोसा है तो उन्होंने अपनी सिक्योरिटी के लिए सरकारी खर्चे पर खास कमांडो क्यों लिए हुए हैं?' 

आरएसएस पर हमलावर राहुल गांधी, बोले- संघ के दवाब में पीएम मोदी ने लागू की नोटबंदी

मायावती ने लखनऊ में जारी अपने बयान में कहा है कि ऐसे वक्त जब भारतीय सेना को विभिन्न प्रकार की चुनौतियों से जूझना पड़ रहा है, संघ सुप्रीमो का बेतुका बयान सेना का मनोबल गिराने वाला है। इसकी इजाजत उन्हें कभी नहीं दी जा सकती है। 

Navodayatimes

इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो ने भागवत से गलत बयानबाजी के लिए देश से माफी मांगने की मांग की है। उन्होंने कहा, 'वैसे भी मोहन भागवत को संघ स्वंयसेवकों के संबंध में यह भ्रम अब दूर करना चाहिए कि वे लोग नि:स्वार्थ भाव से काम कर रहे हैं।'

राफेल सौदे के बाद जज लोया केस में एक्टिव हुए प्रशांत भूषण, उठाए गंभीर सवाल

मायावती ने इसके पीछे की वजह गिनाते हुए कहा, 'संघ अब एक सामाजिक संगठन ना रहकर राजनीतिक संगठन में तब्दील होता जा रहा है। संघ के स्वंयसेवक सामाजिक सेवा को ताक पर रख रहे है और पूरी शिद्दद से भाजपा की चुनावी राजनीति में व्यस्त हो रहे हैं।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.