Sunday, Feb 28, 2021
-->
mayawati supports farmers bharat bandh also appeal to the modi govt pragnt

Farmers Protest: मायावती ने किया 'भारत बंद' का किया समर्थन, केंद्र से की ये अपील

  • Updated on 12/7/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र सरकार (Central Government) के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ 8 दिसंबर को किसानों (Farmers) ने 'भारत बंद' (Bharat Bandh) का ऐलान किया है। ऐसे में किसानों के भारत बंद को लेकर कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, टीआरएस, सपा समेत कई पार्टियों ने अपना समर्थन दिया है। इस बीच बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने भी कृषि संबंधी तीन नए कानूनों की वापसी की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसान संगठनों के 'भारत बंद' के आह्वान का समर्थन किया है।

किसानों के समर्थन में उतरे शरद पवार, कृषि मंत्री रहते की थी APMC कानून में बदलाव की मांग

BSP ने भी किया 'भारत बंद' के समर्थन
बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने सोमवार को किए ट्वीट में कहा, 'कृषि से सम्बंधित तीन नये कानूनों की वापसी को लेकर पूरे देश में किसान आन्दोलित हैं व उनके संगठनों ने आठ दिसंबर को 'भारत बंद' का जो एलान किया है, बसपा उसका समर्थन करती है।' उन्होंने ट्वीट में केंद्र से किसानों की मांगें मानने की अपील भी दोहराई है।

गौरतलब है कि हाल में पारित तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर पिछले कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने आठ दिसंबर को 'भारत बंद' का आह्वान किया है। कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, आम आदमी पार्टी और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी समेत अनेक राजनीतिक दल पहले ही इस बंद को समर्थन का ऐलान कर चुके हैं।

उग्र हो सकता है प्रदर्शन! किसान आंदोलन के लिए शिवसेना का अकालियों को समर्थन

आठ दिंसबर को भारत बंद का आह्वान
हजारों प्रदर्शनकारी किसानों के प्रतिनिधियों ने कहा है कि मंगलवार को पूरी ताकत के साथ देशव्यापी हड़ताल की जाएगी। ये किसान तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुए 26 नवंबर से राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं। बयान में कहा गया है, 'राजनीतिक दलों के हम दस्तखत करने वाले नेतागण देशभर के विभिन्न किसान संगठनों द्वारा आयोजित भारतीय किसानों के जबर्दस्त संघर्ष के साथ एकजुटता प्रकट करते हैं और इन पश्चगामी कृषि कानूनों एवं बिजली संशोधन विधेयक को वापस लेने की मांग को लेकर उनके द्वारा आठ दिंसबर को किये गये भारत बंद के आह्वान का समर्थन करते हैं।'

लंदन: किसान आंदोलन के समर्थन में प्रदर्शन, लहराए खालिस्तानी झंडे, लगाए भारत विरोधी नारे

कांग्रेस, TRS, द्रमुक ने 'भारत बंद' का किया समर्थन
कांग्रेस, टीआरएस, द्रमुक और आप ने केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संघों द्वारा आठ दिसंबर को 'भारत बंद' के आह्वान के प्रति रविवार को अपना समर्थन जताया। इन कानूनों को निरस्त किये जाने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन पिछले 12 दिन से जारी है। इन विपक्षी पार्टियों से पहले शनिवार को तृणमूल कांग्रेस, राजद और वामपंथी दलों ने भी बंद का समर्थन किया था। दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने भी बंद का समर्थन किया है।

नहीं निकला हल! 9 दिसंबर को फिर से सरकार और किसान नेताओं के बीच होगा महामंथन

9 दिसंबर को किसान और सरकार के बीच अगली बैठक
दरअसल, नए कृषि कानूनों (New Farm Bill) के विरोध में किसानों का आदोंलन आज 12वें दिन भी लगातार जारी है। ऐसे में सरकार और किसानों के बीच बैठकों का दौर भी जारी है। अब तक हुई पांच बैठकों के बाद भी समस्या जस-की-तस बनी हुई है। पंजाब व हरियाणा से आए किसान लगातार 12वें दिन से दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर डटे हुए हैं। किसान और सरकार के बीच 5वें दौर की बैठक समाप्त हो चुकी है। ये बैठक एक बार फिर बेनतीजा साबित रही। हालांकि सरकार और किसान संगठन से जुड़े नेताओं के बीच अगले दौर के बातचीत के लिये सहमति बन चुकी है। यह बैठक अब 9 दिसंबर को होगी। 

यहां पढ़े 10 अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.