Tuesday, Sep 28, 2021
-->
mehul-choksi-in-dominica-court-i-will-not-run-i-am-a-law-abiding-citizen-prshnt

डोमिनिका कोर्ट में मेहुल चोकसी- भागूंगा नहीं, मैं कानून का पालन करने वाला नागरिक हूं

  • Updated on 6/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ने डोमिनिका हाई कोर्ट में भारत से भागने की बात को खारिज करते हुए कहा कि वो भारत से भागा नहीं है बल्कि उसने अमेरिका में अपने इलाज के लिए भारत को छोड़ा है। मेहुल चोकसी ने डोमिनिका उच्च न्यायालय में दावा किया कि वह कानून का पालन करने वाला नागरिक है और उसने केवल अमेरिका में मेडिकल ट्रीटमेंट लेने के लिए भारत छोड़ा था। चोकसी ने दावा किया कि उसने भारतीय अधिकारियों को इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया था और उसके खिलाफ चल रही जांच से जुड़े किसी भी तरह के सवाल पूछने के लिए भी कहा था

चोकसी ने कहा, मैंने भारतीय अधिकारियों को मेरा साक्षात्कार लेने और मेरे खिलाफ की जा रही किसी भी जांच के संबंध में मुझसे कोई भी प्रश्न पूछने का निमंत्रण दिया है। उसने कहा, मैं भारत में कानून से बचकर भागा नहीं हूं, जब मैंने अमेरिका में इलाज लेने के लिए भारत छोड़ा था, तब भारत में कानून प्रवर्तन अधिकारियों द्वारा मेरे खिलाफ कोई वारंट नहीं था।

बंगाल: कोलकाता पहुंचा केंद्रीय दल, चक्रवात 'यास' से प्रभावित इलाकों का करेंगे दौरा

चोकसी के लिए भेजा गया विमान
बता दें कि भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को डोमिनिका से वापस लाने के लिए भारत द्वारा भेजा गया कतर एयरवेज का निजी विमान करीब सात दिन बाद उस कैरिबियाई द्वीपीय देश से रवाना हो गया है। सार्वजनिक उड़ान आंकड़ों में यह बात सामने आई। विमानन कंपनी कतर एक्जिक्यूटिव की उड़ान संख्या ए7सीईई 28 मई को तड़के 3.44 बजे दिल्ली अंतरराष्ट्रीय विमानपत्तन से रवाना हुई थी जिसमें चोकसी के खिलाफ मामलों से संबंधित जरूरी दस्तावेज भेजे गये थे। विमान मैड्रिड के रास्ते डोमिनिका के मैरीगॉट पहुंचा था। बताया जा रहा है कि विदेश मंत्रालय ने कहा है कि मेहुल चोकसी को भारत वापस लाने के लिए पूरी कोशिश की ज रही है। मंत्रालय ने कह है कि डोमिनिका में इसके लिए कानूनी प्रक्रियाएं पूरी की जा रही हैं।

रेलवे ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिए अब तक इतने टन ऑक्सीजन की सप्लाई की

सात दिन तक मैरीगॉट में खड़ा रहा विमान
उल्लेखनीय है कि चोकसी के वकीलों ने डोमिनिका उच्च न्यायालय में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दाखिल की थी। किसी गिरफ्तार व्यक्ति को या गैरकानूनी तरीके से हिरासत में बंद व्यक्ति को अदालत में पेश करने का अनुरोध करने के लिए यह याचिका दाखिल की जाती है। यह विमान 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में वांछित चोकसी को भारत वापस लाने की खातिर करीब सात दिन तक मैरीगॉट में खड़ा रहा।

वहां के उच्च न्यायालय ने बृहस्पतिवार को चोकसी की याचिका पर सुनवाई स्थगित कर दी थी जिसके बाद विमान ने तीन जून को स्थानीय समयानुसार रात 8.09 बजे डोमिनिका के मेलविले हॉल हवाईअड्डे से उड़ान भरी। सार्वजनिक रूप से उपलब्ध उड़ान मार्ग की जानकारी के अनुसार विमान मैड्रिड की ओर उड़ान भर रहा है।

comments

.
.
.
.
.