Tuesday, Sep 28, 2021
-->
Metro buses can run with full capacity from Monday Delhi govt sent proposal to DDMA kmbsnt

दिल्ली: सोमवार से मेट्रो और बसों में सभी सीटों पर बैठने की मिल सकती है अनुमति

  • Updated on 7/24/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में मेट्रो और बसों में सभी सीटों पर सवारियां बैठाने की अनुमति सोमवार को मिल सकती है। सूत्र बताते हैं कि दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को इस संबंध मैं दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो डीडीएमए आज यानी शनिवार को अगले हफ्ते से मेट्रो और बसों की सभी सीटों पर सवारियों को बैठने का आदेश जारी कर सकता है।

दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग के आयुक्त आशीष कुंद्रा ने कहा कि परिवहन विभाग ने 2 दिन पहले ही इस बारे में प्रस्ताव तैयार कर सरकार को भेज दिया है। वहीं सरकार के सूत्रों का कहना है कि फाइल डीडीएमए को भेज दी गई है। ऐसे में इस बार सभी सीटों पर सवारियों को बैठाने पर फैसला हो सकता है।

उपराज्यपाल ने दिल्ली पुलिस प्रमुख को दिया हिरासत में लेने का अधिकार

दिल्ली में कम हुई संक्रमण दर 
इस तरह से अगले सप्ताह से मेट्रो और बसों में सफर करने वालों को राहत मिल सकती है। दिल्ली में कोरोना की संक्रमण दर काफी नीचे है और कोरोना के प्रति दिन आने वाले मरीज भी अब काफी कम हो गए हैं। मगर तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए कई मामलों में सरकार सख्ती बनाए हुए हैं।

राजधानी में इस समय बसों और मेट्रो में 50 फीसदी क्षमता के साथ ही सवारियों को बैठने की इजाजत है। इससे जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली मेट्रो के लगभग सभी स्टेशनों के बाहर व्यस्त समय में लंबी लाइनें लग जाती हैं। लोग बस स्टैंड पर खड़े रह जाते हैं और बस आधी खाली दोड़ती दिखती हैं।

दिल्ली दंगे : हाई कोर्ट ने ताहिर हुसैन की याचिका पर पुलिस से मांगा जवाब 

खड़े होकर यात्रा करने की नहीं मिलेगी अनुमति
अगले सप्ताह से यह परेशानी कम हो सकती है। डीडीएमए कोरोना के घटते मामलों को देखते हुए मेट्रो और बसों के परिचालन में थोड़ी और राहत दे सकता है। मगर बस और मेट्रो में खड़े होकर सफर करने की इजाजत अभी नहीं होगी। कोरोना की दूसरी लहर के चलते अप्रैल में लगे लॉकडाउन के बाद दिल्ली में 31 मई से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई थी।इसके बाद 7 जून से दिल्ली में मेट्रो को 50 फीसदी क्षमता के साथ शुरू किया गया था। बस से पहले से ही 50 फीसदी क्षमता के साथ चल रही हैं। दोनों मामलों में खड़े होकर यात्रा करने की इजाजत नहीं है। 

comments

.
.
.
.
.