मेट्रो फेज-4 को केंद्र से हरी झंडी का इंतजार, जुड़ेंगे 10 लाख यात्री

  • Updated on 1/17/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। करीब तीन वर्ष देरी से चल रहे दिल्ली मेट्रो फेज चार को लेकर दिल्ली सरकार के बाद अब केंद्र से हरी झंडी का इंतजार है। फेज चार के सभी छह कॉरिडोर का काम वर्ष 2025 तक पूरा होने के बाद करीब 10 लाख यात्री जुड़ेंगे।

छह कॉरिडोर को अनुमति देने के मामले में दिल्ली सरकार और केंद्र के बीच चली खींचतान समाप्त होने के बाद भी अभी केंद्र से हरी झंडी नहीं मिली है।

आज से राजपथ पर गणतंत्र दिवस की रिहर्सल शुरू, तीन घंटे तक बंद रहेंगे ये मार्ग

दिल्ली मेट्रो फेज चार का काम 2016 से 2021 तक पूरा होना था, लेकिन तीन वर्ष लेट होने और केंद्र की मंजूरी न मिलने से अभी तक काम शुरू नहीं हो सका है।

जिन छह कॉरिडोर को दिल्ली सरकार की ओर से अनुमति दी गई है उसके बाद से कई क्षेत्रों के लोग संबंधित रूट पर काम शुरू होने व कार्य के बारे में पूछना भी शुरू कर दिया है।

फिर राजधानी की हवा में घुला जहर, खतरनाक श्रेणी में पहुंचा दिल्ली का प्रदूषण

फेज चार को लेकर दिल्ली सरकार ने 19 दिसम्बर को मंजूरी दे दी थी। इसके बाद प्रस्ताव केंद्र को भेजने के बाद अध्ययन का काम शुरू किया जा रहा है।

इस परियोजना पर कुल 45 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे, जिसमें से दिल्ली सरकार अपनी हिस्सेदारी 9,707 करोड़ रुपए देगी। इसके अलावा 3623 करोड़ रुपए इक्विटी के रूप में और 21,905 करोड़ रुपए जापान की एजेंसी जायका से लोन के रूप में मिलने की बात कही गई है। उल्लेखनीय है कि पिछले करीब चार वर्षों के दौरान दिल्ली मेट्रो फेज चार के बजट में तीन बार बदलाव किया जा चुका है। 

राजधानी में ठंड का बरपा कहर, सर्दी के सितम से गई 96 बेघरों की जान!

फेज चार के कॉरिडोर

  • रिठाला-बवाना-नरेला - 21.73 किमी 
  • जनकपुरी-आरकेआश्रम -29.11 किमी 
  • मजलिस पार्क -मौजपुर -12.54 किमी  
  • इंद्रलोक-इंद्रप्रस्थ - 12.58 किमी  
  • तुगलकाबाद-एयरपोर्ट टर्मिनल-1 -20.01 किमी 
  • लाजपत नगर-साकेत जी ब्लॉक -7.96 किमी  
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.