भारत और चीन की सेनाएं 13 दिन तक करेंगी सैन्य अभ्यास

  • Updated on 12/7/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत और चीन के बीच रिश्तों में हमेशा तल्खी देखने को मिलती है। इसके अलावा राजनैतिक बयानबाजी होती रहती है। युद्ध की धमकी भी दोनों ही देशों की तरफ से आती रहती है। इसके बीच दोनों देशों के लिहाज से बड़ी खबर आ रही है कि भारत-चीन की सेना के बीच 10 -23 दिसंबर के बीच सैन्य अभ्यास होगा।

दरअसल दोनों ही देश इसमें अपनी शक्ति का परिक्षण करके ताकत का इंम्तिहान लेंगे। खास बात तो यह है कि 13 दिन चलने वाला ये सैन्य अभ्यास संयुक्त रुप से होगा। बता दें कि कुछ ही दिन पहले चीन ने भारत की सीमां लांघने की कोशिश की थी। चीन के दो हैलीकॉप्टर भारतीय सीमा में देखने को मिला था। 

काम करने के लिहाज से ये हैं दुनिया के टॉप 100 संस्थान- रिपोर्ट

हाल ही में एक रिपोर्ट में हुए खुलाशे में पता चला है कि चीन ने भारत में दोहरी घुसपैठ की कोशिश की। चीन ने एक तरफ जहां जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में घुसने की कोशिश की, वहीं दूसरी तरफ अरुणाचल प्रदेश में भी ड्रैगन सैनिकों को भारत की सीमा के अंदर देखा गया। लद्दाख के बुर्तसे और ट्रैक जंक्शन पोस्ट ट्रिग हाईट और डेपसांग इलाके में पड़ते हैं। सूत्रों के मुताबिक लद्दाख के ट्रिग हाईट और डेपसांग का ये इलाका भारत के लिए रणनीतिक तौर पर काफी महत्व रखता है।

चीन के खुफिया शिविरों  में बंद हैं 20 लाख धार्मिक अल्पसंख्यक

एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि चीन को 2 हेलीकॉप्टर भारतीय सीमा में देखे गए। चीन की यह कोशिश पिछले महीने की 27 अगस्त को की गई। जिसमें ये दोनों हेलीकॉप्टर MI-17 की तरह दिख रहे थे और यह करीब 5 मिनट तक भारतीय हवाई क्षेत्र में रहे।

इसके अलावा लद्दाख में हवाई सीमा का उल्लंघन करने वाले चीनी सैनिकों ने जमीनी बॉर्डर को भी पार कर लिया। खबर है कि अरुणाचल प्रदेश की दिवांग घाटी में क्षेत्र के ग्रामीणों ने चीनी सुरक्षाबलों के दाखिल होने की जानकारी दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.