Monday, Jan 21, 2019

हरियाणा में शीत लहर का प्रकोप बढ़ा, न्यूनतम तापमान 1.0 डिग्री सेल्सियस

  • Updated on 12/27/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हरियाणा में शीत लहर और तेज होने से राज्य के अधिकतर इलाकों में ठंड काफी बढ़ गई। इस साल शीतलहर ने पिछले पांच साल के रिकॉर्ड तोड़ दिया है। हैरान करने वाली बात यह है कि राज्य के कई इलाके हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से भी ज्यादा ठंडे हैं।

मौसम विभाग के अनुसार, हरियाणा में न्यूनतम तापमान 1.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हरियाणा स्थित मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि हरियाणा के हिसार में न्यूनतम तापमान शून्य से एक डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि पंजाब में अमृतसर और लुधियाना का न्यूनतम तापमान क्रमश: 1.5 और 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

ठंड के चलते लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया है। वाहन चालकों को धुंध के कारण वाहनों की लाईटे जला कर चलना पड़ रहा है, आलम यह है कि सड़को पर गाड़ियां रेंग रही हैं। धुंध के चलते सड़क दुर्घटना भी बढ़ गया है और प्रदेश में पांच साल बाद -1 डिग्री पर पहुंचे तापमान ने हिसार में आज पांच साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

मौसम विभाग का कहना है कि हरियाणा में ठंड के हालात कुछ दिन और ऐसे ही रहने वाले हैं। आसमान में छाए बादलों की वजह से धूप भी धरती तक नहीं पहुंच पा रही है जिस वजह से राज्य में ठंड का प्रकोप और बढ़ गया है। संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में धुंध और ठंड और अधिक पड़ सकती है। 

मौसम विभाग ने कहा कि आज सुबह यानी गुरुवार को हालात कुछ सामान्य देखने को मिला लेकिन यह बाकि राज्यों से ज्यादा ही रहा। सुबह थोड़ी बहुत धूप निकले से लोगों को राहत मिली। लेकिन धूप पड़ने से भी उतर पश्चिमी की तेज ठंडी हवाए चल रही हैं. तेज हवाएं चलने से लोगों को दिक्कते हो रही हैं। मौसम वैज्ञानिक का कहना है कि पाला पड़ने से गेंहू की फसल को काफी फायदा हो रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.