मिशन-2019 को फतह करने के लिए बुद्धिजीवियों पर डोरे डालेगी भाजपा

  • Updated on 1/18/2019

नई दिल्ली/सुनील पाण्डेय। मिशन-2019 को फतह करने के लिए भारतीय जनता पार्टी देश के बुद्धिजीवियों के बीच बड़े स्तर जाने की तैयारी कर रही है। इसके लिए पार्टी ने बड़ा प्रोजेक्ट तैयार किया है। इस प्रोजेक्ट के तहत सरकार की पांच साल की उपलब्यिों के बारे में तो बातचीत होगी ही, राफेल से लेकर राममंदिर तक की भी चर्चा होगी।

चर्चा के दायरे में शिक्षक, डाक्टर, इंजीनियर, वकील, पत्रकार, प्रोफेसर सहित बुद्धिजीवी वर्ग में आने वाले सभी तबके के लोग शामिल किया जाएंगे। बुद्धिजीवी सम्मेलन इसका मुख्य प्लेटफार्म होगा। देशभर के 200 से अधिक लोकसभा क्षेत्रों में सम्मेलन करने की फिलहाल तैयारी है। बाद में इसकी संख्या बढ़ाई जाएगी।

लद्दाख में बर्फीले तूफान का कहर, माइनस 15 डिग्री तापमान में हो रहा रेस्क्यू, 10 लोग दबे

इसके तहत तीन-तीन संसदीय क्षेत्रों के एक क्लस्टर बनाकर सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इस क्लस्टर में एक संसदीय क्षेत्र में शक्तिकेन्द्र सम्मेलन, एक में युवा सम्मेलन और एक में बुद्धिजीवी सम्मेलन आयोजित किये जाने का कार्यक्रम है।

खास बात यह है कि देश के सबसे बड़े सियासी राज्य उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक लगभग 26 -27 बुद्धिजीवी सम्मेलन आयोजित किये जाएंगे। बुद्धिजीवियों के साथ संवाद की कमान मानव संसाधन एवं विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को सौंपी गयी है।

सूत्रों के मुताबिक प्रकाश जावड़ेकर के अलावा के अलावा पार्टी के सभी शीर्षस्थ नेता अमित शाह, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, पार्टी के प्रवक्ता, केन्द्रीय मंत्री सभी लोग भी विभिन्न स्थानों पर मोदी सरकार के पांच साल के कामकाज पर चर्चा करेंगे। इस बुद्धिजीवियों के साथ संवाद में सुशासन की मूल विचार एवं दर्शन के बारे में चर्चा की जाएगी।

RSS प्रमुख भागवत का सरकार पर हमला, कहा- कोई युद्ध नहीं फिर भी सीमा पर शहीद हो रहे जवान

पेशेवरों के साथ संवाद कर उनके साथ मोदी सरकार के पांच साल की उपलब्धियों के बारे में चर्चा करने के साथ दोबारा नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने की अपील करेगी। भाजपा ने लोकसभा चुनावों के लिए कई कार्यक्रम तैयार किये हैं, जिनमें पार्टी मान रही है कि राजनीतिक धारणा बनाने में सबसे अहम पहलू बुद्धिजीवियों के साथ संवाद है। इससे आम जनजीवन में मोदी सरकार को लेकर संदेह दूर करने के साथ धारणा को दुरुस्त करने का प्रयास किया जाएगा। 

कांग्रेस से दिल्ली में गठबंधन पर AAP के गोपाल राय ने हाथ खड़े किए

आरक्षण सहित सभी योजनाओं का प्रचार भी होगा 
इस अभियान के तहत  सड़क से लेकर हवाई अड्डे एवं रेल नेटवर्क के विस्तार, अनुसूचित जाति जनजाति एवं पिछड़े वर्ग के लिए उठाये गये कदमों के लेकर सामान्य वर्ग के गरीबों को दस प्रतिशत आरक्षण, रसोई गैस कनेक्शन वाली उज्ज्वला योजना से लेकर बिजली कनेक्शन वाली सौभाग्य योजना, जनधन योजना से लेकर मुद्रा ऋण योजना तथा किसानों के लिए फसल बीमा योजना से लेकर लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य तक तकरीबन हर कदम के बारे में बताया जाएगा तथा विपक्ष की नकारात्मक राजनीति के विरुद्ध भाजपा के सकारात्मक राजनीतिक दृष्टिकोण की जानकारी दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.