Friday, Jun 05, 2020

Live Updates: Unlock- Day 4

Last Updated: Thu Jun 04 2020 10:35 PM

corona virus

Total Cases

225,057

Recovered

107,991

Deaths

6,318

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA77,793
  • TAMIL NADU25,872
  • NEW DELHI23,645
  • GUJARAT18,609
  • RAJASTHAN9,720
  • UTTAR PRADESH9,237
  • MADHYA PRADESH8,762
  • WEST BENGAL6,508
  • BIHAR4,326
  • KARNATAKA4,063
  • ANDHRA PRADESH3,791
  • TELANGANA3,020
  • HARYANA2,954
  • JAMMU & KASHMIR2,857
  • ODISHA2,388
  • PUNJAB2,376
  • ASSAM1,831
  • KERALA1,495
  • UTTARAKHAND1,087
  • JHARKHAND764
  • CHHATTISGARH626
  • TRIPURA573
  • HIMACHAL PRADESH359
  • CHANDIGARH301
  • GOA126
  • MANIPUR108
  • PUDUCHERRY88
  • NAGALAND58
  • ARUNACHAL PRADESH37
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA33
  • MIZORAM17
  • DADRA AND NAGAR HAVELI11
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM2
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
mla-babli-reached-anil-vij-s-court-except-cm-khattar-know-the-whole-matter

CM खट्टर को छोड़ अनिल विज के दरबार पहुंचे विधायक बबली, जानिए पूरा मामला

  • Updated on 1/30/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सरकारी सिस्टम से असंतुष्ट सहयोगी जजपा के विधायक देवेंद्र सिंह बबली (Devendra Singh Babli) ने गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) के दरबार में आपबीती सुनाई।

इससे पहले महम से निर्दलीय विधायक बलराज सिंह कुंडू (Balraj Singh Kundu) भी पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर (Manish grover) के खिलाफ शिकायतों का पुलिंदा दे चुके हैं। बबली ने टोहाना क्षेत्र में बढ़ते नशे और पुलिस अफसरों की कार्यशैली का मुद्दा रखा। 

हालांकि उनके निशाने पर विरोधी भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला (Subhash Barala) रहे लेकिन गृह मंत्री ने राजनीति से हटकर बातों को सुना और समाधान का भरोसा दिया। 

BJP नेता अनिल विज के बिगड़े बोल- ममता की ताड़का से की तुलना

रात में थानों में गलत काम हो रहे हैं
बता दें कि बबली भाजपा प्रदेशाध्यक्ष बराला को हराकर विधायक चुने गए हैं। दरअसल बबली कई दिन से राजनीतिक विरोधी एवं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला पर निशाना साध रहे हैं।

बबली ने कहा कि कुछ लोगों के प्रभाव के कारण फतेहाबाद के पुलिस अधीक्षक सहित अन्य अफसर फोन नहीं उठाते। रात में थानों में गलत काम हो रहे हैं और नशे की बिक्री अब पहले से ज्यादा हो गई है।

मनु भाकर ने हरियाणा के खेल मंत्री को याद दिलाया वादा, भड़क गए अनिल विज

अनिल विज और मनोहर लाल खट्टर के बीच विवाद
बता दें कि मंत्रालय की पावर को लेकर गृह मंत्री अनिल विज और मुख्यमत्री मनोहर लाल खट्टर के बीच छिड़े विवाद चल रहा है। यहां तक सुनने में आ रहा है कि विज की भांति अन्य मंत्रियों ने भी ऐसा ही कहना शुरू कर दिया तो फिर स्थिति कुछ और रूप ले सकती है।

हालांकि प्रथम श्रेणी, आई.ए.एस. और आई.पी.एस. अधिकारियों के तबादलों का अधिकार मुख्यमंत्री का होता है लेकिन विज ने स्पष्ट कर दिया था कि अपने विभागों में हस्ताक्षेप बर्दाश्त नहीं करेंगे। इसके चलते जहां 8 आई.पी.एस. अधिकारियों की तबादला सूची को मानने से इंकार कर दिया। वहीं सूची जारी होने के बाद मुख्यमंत्री को तबादलों को रद्द करने का पत्र भी लिख दिया था।

संघ विरोधियाें पर बोले विज- देशभक्ति के मंदिर में भूत-पिशाच नहीं घुस सकते

अधिकारी कर रहें हैं स्वयं को असहज महसूस 
चर्चा अनुसार मुख्यमंत्री का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने का प्रयास था लेकिन मुलाकात नहीं हो पाई। हालांकि विज के तेवर अभी बरकरार हैं लेकिन ऊपापोह की स्थिति के चलते अधिकारी स्वयं को असहज महसूस कर रहे हैं। यही नहीं आई.ए.एस. और आई.पी.एस. अधिकारी इस कदर डरे हुए हैं कि पावर की गेम का नजला न जाने किस अधिकारी पर गिर जाए।

देश में अमीर-गरीब की खाई पाटने के लिए भाजपा प्रयासरत : बराला

पुलिस अधीक्षकों की तबादला सूची तैयार, लेकिन नहीं हो पाई घोषित
सूत्रो की माने तो सी.एम.ओ. ने पुलिस अधीक्षकों की तबादला सूची भी तैयार कर ली थी लेकिन जब पहली पर ही विवाद हो गया तो इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया, क्योंकि जब तक मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के बीच छिड़ा विवाद शांत नहीं होता, तक तक सूची लंबित रह सकती है। हालांकि सरकार ने आई.ए.एस. और एच.सी.एस. अधिकारियों की तबादला सूची जारी कर दी लेकिन पुलिस विभाग की सूची पर पूर्ण विराम लग गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.