अपनों के सवालों पर घिरे मंत्री मदन कौशिक, विधायक खजान दास को एक सवाल के मिले दो जवाब

  • Updated on 12/5/2018

देहरादून/ब्यूरो। बुधवार को विधानसभा में मंत्री अपनी पार्टी के विधायकों के सवालों पर घिरते नजर आये। शहरी विकास से संबंधित एक सवाल के दो जवाब मिलने पर भाजपा विधायकों ने शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को घेर लिया। भाजपा विधायक काफी आक्रामक नजर आये और शहरी विकास मंत्री बचाव की मुद्रा में दिखे।

भाजपा विधायक खजानदास की ओर से सवाल पूछा गया था कि सफाई कर्मचारियों की मृत्यु के बाद रिक्त पदों पर भर्ती नहीं हो रही है। क्या सरकार इसको लेकर कोई कार्रवाई कर रही है। इसके जवाब में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि नियमित रुप से नियुक्त सफाई कर्मचारियों की मृत्यु के बाद उनके आश्रितों को नियुक्ति दी जा रही है। 

ट्रेनिंग के बाद नौकरी से  निकाला तो होगी कार्रवाई

ऐसे 782 मामले आये, जिनमें से 724 को नियुक्ति दे दी गई। 58 प्रकरणों की जांच चल रही है। खजानदास ने मंत्री को बीच में ही टोका कि तारांकित सवाल का जो जवाब उन्हें भेजा गया है, वह अलग है, जबकि मंत्री विधानसभा में जो जवाब दे रहे हैं, वह भिन्न है। मंत्री ने कहा कि जो जवाब वह पढ़ रहे हैं, उसे सही माना जाये। 

मंत्री का यह जवाब सुनकर विधायक मुन्ना सिंह चौहान खड़े हो गये।उन्होंने आक्रामक तेवर में कहा कि सदन में गंभीरता रखनी चाहिए। मंत्री का जवाब बिल्कुल गंभीर नहीं है।एक सवाल के दो अलग जवाब होना गंभीर मामला है। मदन कौशिक केवल यही कहते रहे कि उनकी ओर से विधानसभा में दिये गये जवाब को सही माना जाये।

खाता न बही, जो मदन जी कहें वही सही
भाजपा विधायक संजय  गुप्ता ने तंज कसते हुए कहा, पिछली सरकार में नारा था कि खाता न बही, जो हरीश रावत कहे वही सही। अब ऐसा लग  रहा है कि खाता न बही, जो मदन जी कहें, वही सही। इस पर सदन में खूब ठहाका लगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.