Wednesday, Feb 19, 2020
mns chief raj thackeray change party flag hindutva on bal thackeray birth anniversary

राज ठाकरे 'मराठी मानुष' से 'हिंदुत्व' की राह पर, बदला MNS का झंडा और नारा

  • Updated on 1/23/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे (Bala Saheb Thackeray) की आज जंयती है। इस मौके पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने अपनी विचारधारा को 'मराठी मानुष' से 'हिंदुत्व' की राह पर चलने की तैयारी शुरू कर दी है। 

बाल ठाकरे (Bal Thackeray) की जयंती के अवसर पर मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने मुंबई (Mumbai) में अपना पहला महाधिवेशन शुरू किया। इस दौरान पार्टी ने नया भगवा रंग का झंडा लॉन्च किया, जिस पर नारा दिया गया 'महाराष्ट्र धर्म के बारे में सोचो, हिंदू स्वराज्य का निर्धारण करो।' इसके साथ ही राज ठाकरे ने अपने बेटे अमित ठाकरे (Amit Thackeray) को भी आज पार्टी में शामिल किया है। 

#BalaSahebThackeray की जयंती पर PM मोदी समेत इन दिग्गज नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

बाल ठाकरे को दी श्रद्धांजलि
पार्टी का नया झंडा जारी करने से पहले मनसे प्रमुख ने अपने ताऊ और शिवसेना के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे को गुरुवार को उनकी 94वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की। मनसे के अधिवेशन के शुरुआती सत्र में उन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज, बी आर आंबेडकर और अपने दादा प्रबोधनकार ठाकरे के अलावा हिंदूवादी विचारक वी डी सावरकर को भी श्रद्धांजलि दी। राज ठाकरे ने शिवसेना से अलग होने के बाद 2006 में मनसे बनाई थी।

शिवसेना को टक्कर देने की तैयारी में जुटी MNS
बाल ठाकरे की जयंती के दिन मनसे प्रमुख के हिंदुत्व अवतार अपनाने को शिवसेना (Shiv Sena) से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, राज ठाकरे सावरकर और हिंदुत्व जैसे मुद्दों को लेकर हमेशा शिवसेना से बेकफुट में रही है। ऐसे में वह शिवसेना को कड़ी टक्कर देने और पार्टी संस्थापक बाल ठाकरे की राजनीतिक विरासत के असल वारिस बनने की तैयारी में जुट गए हैं। 

शिवसेना ने चव्हाण के 2014 में गठबंधन सरकार बनाने के प्रस्ताव के दावे को किया खारिज

बदला MNS का झंडा और नारा
एमएनएस के चार रंग के झंडे को अब नया रूप दिया गया है। ये नया झंडा पूरी तरह से भगवा रंग का है। इस झंडे में छत्रपति शिवाजी महाराज के शासनकाल की राजमुद्रा भी प्रिंट की गई है और उस पर संस्कृत में श्लोक लिखा गया है- 'प्रतिपच्चन्द्रलेखेव वर्धिष्णुर्विश्ववन्दिता, शाहसूनो: शिवस्यैषा मुद्रा भद्राय राजते।'

इसका अर्थ होता है- 'शाहजी के पुत्र शिवाजी की इस मुद्रा की कीर्ति नए चंद्रमा की तरह बढ़ेगी। पूरी दुनिया द्वारा इसकी पूजी की जाएगी, और यह केवल लोगों की भलाई के लिए चमकती रहेगी।' मालूम हो कि इससे पहले एमएनएस का झंडे में भगवा, नीला और हरा रंग था।

MNS New Flag Bhagwa Rang

पृथ्वीराज चव्हाण के खुलासे के बाद BJP नाराज, कहा- स्पष्टीकरण दे शिवसेना

मंच पर दिखी सावरकर की तस्वीर
एमएनएस के पहले महाधिवेशन के मंच पर विनायक दामोदर सावरकर की तस्वीर भी देखी गई। जिसके बाद साफ माना जा रहा है कि राज ठाकरे की पार्टी खुलकर शिवसेना को चुनौती दे रही है। क्योंकि महाराष्ट्र में शिवसेना-कांग्रेस-राकांपा गठबंधन सरकार होने के बावजूद सावरकर के मुद्दे पर कांग्रेस और शिवसेना एक दूसरे पर हमलावार है। अब वहीं मुद्दों को उठाकर एमएनएस महाराष्ट्र (Maharashtra) में अपने ध्वस्त किले को फिर से खड़ा करने की कोशिश कर रही है। एमएनएस साफतौर पर शिवसेना के मुद्दों को अपना मुद्दा बनाकर उनके कार्यकर्ताओं को अपनी ओर खींचने में लगी है। वीर सावरकर के अलावा एमएनएस के मंच पर शिवाजी की मूर्ति, भीमराव आंबेडकर की तस्वीर और सावित्री बाई फुले की तस्वीर भी लगाई गई थी।

MNS Munch veer savarakar

राज ने बेटे अमित ठाकरे को किया लॉन्च
एमएनएस के महाधिवेशन में राज ठाकरे ने अपने बेटे अमित ठाकरे को लॉन्च किया है। उन्होंने उद्धव के बेटे और राज्य सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे को टक्कर देने के लिए अमित को सक्रिय राजनीति में उतारा है। जिससे वह राज्य के युवा वोटर्स को अपनी ओर खींच सकें।

Amit Thackeray

BJP-एमएनएस बनेंगे दोस्त?
बता दें कि कुछ दिनों पहले एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) से मुलाकात की थी। जिसके बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि पालघर में होने वाले जिला परिषद और पंचायत समिति के चुनाव के पहले बीजेपी (BJP) और एमएनएस एक साथ हाथ मिला सकते हैं। इससे पहले पालघर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज ठाकरे के साथ की तस्वीरें भी देखने को मिल रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.