Monday, Jan 21, 2019

ध्यान दें, मार्च तक बंद हो जाएंगे अधिकतर मोबाइल वॉलेट्स!

  • Updated on 1/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश में अधिकतर मोबाइल वॉलेट्स मार्च तक बंद हो सकते हैं। यह डर पेमैंट्स इंडस्ट्री के एग्जीक्यूटिव्स ने जताया है। उन्हें डर है कि सभी कस्टमर्स का वैरीफिकेशन फरवरी 2019 तक पूरा नहीं हो पाएगा।

दवाओं की ऑनलाइन बिक्री पर रोक हटाने से उच्च न्यायालय का इनकार

आर.बी.आई. ने वैरीफिकेशन के लिए यही डैडलाइन तय की है। प्रीपेड पेमैंट इंस्ट्रूमैंट्स यानी मोबाइल वॉलेट्स को आर.बी.आई. ने अक्तूबर 2017 में निर्देश दिया था कि वे नो योर कस्टमर (के.वाई.सी.) गाइडलाइंस तहत वांछित पूरी जानकारी जुटाएं।

डाकघरों में जमा 9,395 करोड़ रुपए लावारिस, नहीं कोई दावेदार

इंडस्ट्री के एग्जीक्यूटिव्स ने बताया कि कम्पनियां अब तक अपने टोटल यूजर बेस के मामूली हिस्से की जानकारी ही जुटा सकी हैं और अभी उन्होंने अधिकतर यूजर्स का बायोमीट्रिक या फिजीकल वैरीफिकेशन नहीं किया है। नई दिल्ली की एक पेमैंट्स कंपनी के सीनियर अधिकारी ने कहा कि देश में 95 प्रतिशत से ज्यादा मोबाइल वॉलेट्स मार्च तक बंद हो सकते हैं। आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने जजमैंट में कहा था कि प्राइवेट कम्पनियां कस्टमर्स के पेपरलैस वैरीफिकेशन के लिए आधार डाटाबेस का उपयोग नहीं कर सकती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.