Sunday, Aug 07, 2022
-->
modi bjp govt approves new interest rate on employees provident fund just before diwali rkdsnt

दिवाली से ठीक पहले सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि पर नई ब्याज दर को दी मंजूरी

  • Updated on 10/29/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) पर 8.5 प्रतिशत ब्याज को मंजूरी दी है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के पांच करोड़ से अधिक अंशधारकों के लिए दिवाली से ठीक पहले यह एक अच्छी खबर है। 

माफी के बाद कांग्रेस और पप्पू यादव के निशाने पर आए पूर्व CAG विनोद राय

श्रम मंत्री की अध्यक्षता वाला केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) ने इस साल मार्च में पिछले वित्त वर्ष के लिए कर्मचारी भविष्य निधि जमा पर 8.5 प्रतिशत ब्याज दर तय की थी। सीबीटी ईपीएफओ का निर्णय लेने वाले सर्वोच्च निकाय है। एक सूत्र ने शुक्रवार को कहा, 'वित्त मंत्रालय ने 2020-21 के लिए ईपीएफ पर ब्याज दर को मंजूरी दे दी है और अब इसे पांच करोड़ से अधिक अंशधारकों के खातों में जमा किया जाएगा।' 

केजरीवाल ने पंजाब के किसानों के लिए किए चुनावी वादे, कहा- AAP सरकार बनी तो ...

पिछले साल मार्च में, ईपीएफओ ने 2019-20 के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को सात साल में सबसे कम करते हुए 8.5 प्रतिशत कर दिया था। यह 2018-19 में 8.65 प्रतिशत थी। वित्त वर्ष 2019-20 के लिए प्रदान की की गयी ईपीएफ (कर्मचारी भविष्य निधि) ब्याज दर 2012-13 के बाद से सबसे कम थी।

कांग्रेस के खिलाफ चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के बयान से भाजपा उत्साहित

2012-13 में इसे घटाकर 8.5 प्रतिशत कर दिया गया था।ईपीएफओ ने अपने अंशधारकों को 2016-17 में 8.65 प्रतिशत और 2017-18 में 8.55 प्रतिशत ब्याज दिया था। 2015-16 में ब्याज दर 8.8 प्रतिशत से थोड़ी अधिक थी।      

आर्यन खान को जमानत मिलने के बाद नवाब मलिक बोले- पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.