Thursday, May 06, 2021
-->
modi bjp govt ban on export of corona medicine remadecivir after opposition by parties rkdsnt

मोदी सरकार ने कोरोना रोधी दवा के निर्यात पर लगाई पाबंदी

  • Updated on 4/11/2021


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। विपक्षी दलों के कड़े तेवरों के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने कोरोना दवा के निर्यात पर फिलहाल के लिए पाबंदी लगा दी है। सरकार ने यह फैसला कोविड-19 के मामलों में तेज वृद्धि के चलते लिया है। इसके तहत कोरोना वायरल-रोधी दवा रेमडेसिविर की मांग बढ़ने के मद्देनजर निर्यात पर पाबंदी लगाई गई है। इस बीच दिल्ली में एक दिन में कोविड-19 के सबसे अधिक 10,774 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही 48 और रोगियों की मौत हो गई है। 

दिवंगत पर्रिकर के सपने को भुनाने में जुटी AAP, गोवा के वोटरों से सिसोदिया की खास अपील

कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के कारण रेमडेसिविर की मांग बढऩे के मद्देनजर केन्द्र ने रविवार को कहा कि वायरल रोधी इंजेक्शन और इसकी सक्रिय दवा सामग्री (एपीआई) के निर्यात पर स्थिति में सुधार होने तक रोक लगा दी गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा दवा की आसानी से उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए रेमडेसिविर के सभी घरेलू निर्माताओं को अपने विक्रेताओं और वितरकों की जानकारी अपनी वेबसाइट पर प्रर्दिशत करने की सलाह दी गई है। 

औषधि निरीक्षकों और अन्य अधिकारियों को भंडार को सत्यापित करने, कदाचारों की जांच करने और इसकी जमाखोरी और कालाबाजारी को रोकने के लिए अन्य प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिये गये है। राज्यों के स्वास्थ्य सचिव संबंधित राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के औषधि निरीक्षकों के साथ इसकी समीक्षा करेंगे। मंत्रालय ने कहा, ‘‘भारत में कोविड के मामले तेजी से बढ़ रहे है। देश में 11 अप्रैल तक उपचाराधीन मरीजों की संख्या 11.08 लाख है और यह संख्या तेजी से बढ़ रही है। इससे कोविड मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग तेजी से बढ़ी है।’’ 

राकेश टिकैत ने चेताया, कहा- सीएम खट्टर को बदौली गांव में घुसने नहीं देंगे

उसने कहा कि आने वाले दिनों में इसकी मांग में और बढ़ोतरी हो सकती है। मंत्रालय ने कहा कि सात भारतीय कंपनियां मेसर्स गिलीड साइंसेज, अमेरिका, के साथ स्वैच्छिक लाइसेंसिंग समझौते के तहत इंजेक्शन का उत्पादन कर रही हैं। उनके पास प्रति माह लगभग 38.80 लाख इकाइयों को बनाने की क्षमता है। 

उसने कहा, ‘‘भारत सरकार ने स्थिति में सुधार होने तक रेमडेसिविर और इसकी सक्रिय दवा सामग्री (एपीआई) के निर्यात पर स्थिति में सुधार होने तक रोक लगा दी गई है।’’ मंत्रालय ने कहा कि फार्मास्युटिकल विभाग दवा के उत्पादन को बढ़ाने के लिए घरेलू निर्माताओं के साथ संपर्क में है।

जेलों में 200 कैदियों को टीका लगाया गया 
राष्ट्रीय राजधानी में तीन जेलों के लगभग 200 पात्र कैदियों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीका लगाया गया है और उनमें से किसी में भी कोई प्रतिकूल प्रभाव देखने को नहीं मिला है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। दिल्ली की जेलों में कुल 326 कैदी 60 साल से ऊपर के हैं, और 45-59 आयु वर्ग में 300 से अधिक कैदी हैं। ये दोनों श्रेणियों के लोग इस समय जारी राष्ट्रव्यापी अभियान में टीकाकरण के लिए पात्र हैं। 

मोदी सरकार की नीतियों के कारण भारतीयों पर कोरोना का कहर : कांग्रेस

उन्होंने बताया कि दिल्ली कारागार विभाग ने कैदियों को टीका लगाने के लिए तिहाड़ जेल में एक कोविड-19 टीकाकरण केंद्र स्थापित किया था। इसे केंद्रीय जेल अस्पताल में जेल नंबर तीन में स्थापित किया गया था। महानिदेशक (जेल) संदीप गोयल ने कहा, ‘‘तिहाड़ जेल में लगभग 160 कैदियों और रोहिणी और मंडोली की जेलों में लगभग 40 कैदियों को अब तक टीके लगाये जा चुके हैं।’’ जेल के कैदियों के लिए टीकाकरण अभियान 18 मार्च को शुरू हुआ था। 

 AAP की पीएम मोदी से अपील- टीकाकरण में देशवासियों को दी जाए प्राथमिकता

अधिकारियों ने बताया कि वे रोहिणी और मंडोली के कैदियों को टीका लगवाने के लिए पुलिस सुरक्षा में नजदीकी सरकारी टीकाकरण केन्द्रों में भेज रहे हैं। जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, पात्र कैदियों के परिवार के सदस्यों को टीकाकरण प्रक्रिया के लिए जेल अधिकारी के मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप के माध्यम से आवश्यक दस्तावेज भेजने के लिए कहा गया था। 

एकता कपूर के ‘ऑल्टबालाजी’ ने मांगी पोस्टर चोरी के लिए माफी

अधिकारी ने बताया कि जिन कैदियों को टीका लगाया गया है उनमें से किसी में इसका कोई प्रतिकूल प्रभाव देखने को नहीं मिला है।      गौरतलब है कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 टीकाकरण अभियान का दूसरा चरण एक मार्च को शुरू हुआ था। गत 16 जनवरी से शुरू हुए पहले चरण में दिल्ली में स्वास्थ्यर्किमयों और अग्रिम पंक्ति के र्किमयों समेत 3.6 लाख से अधिक लाभार्थियों का टीकाकरण किया गया था। 

रिजल्ट से पहले ही कांग्रेस सतर्क, खरीद-फरोख्त से बचने के लिए उम्मीदवार जयपुर में

 

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.