Thursday, Jan 27, 2022
-->
modi-bjp-govt-vaccination-policy-promoting-black-marketing-kerala-govt-in-high-court-rkdsnt

केरल सरकार ने हाई कोर्ट में कहा- काला बाजारी को बढ़ावा दे रही केंद्र की टीकाकरण नीति 

  • Updated on 6/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केरल सरकार ने बुधवार को यहां उच्च न्यायालय में दावा किया कि केंद्र की टीकाकरण नीति काला बाजारी को‘बढ़ावा’ दे रही है। जस्टिस ए मोहम्मद मुश्ताक और जस्टिस कौसर एडप्पागथ की पीठ के समक्ष अपनी दलीलें पेश करते हुए सरकारी वकील ने केंद्र और राज्य दोनों सरकारों के लिए टीकों की खरीद की खातिर अलग-अलग दरें तय करने के फैसले पर सवाल उठाया। पीठ राज्य में कोविड टीकों की कमी से संबंधित एक मामले की सुनवाई कर रही थी। 

अलपन बंद्योपाध्याय को आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत गृह मंत्रालय का नोटिस

उन्होंने कहा कि कीमत उत्पादन लागत के आधार पर तय की जानी चाहिए। राज्य सरकार ने निजी टीका निर्माताओं पर टीकों की बढ़ा-चढ़ाकर कीमतें वसूलने का आरोप लगाते हुए कहा कि कंपनियों को महामारी के बीच फायदा उठाने की अनुमति नहीं दी जा सकती है।     सरकार ने कहा, ‘‘ केंद्र सरकार कालाबाजारी को बढ़ावा दे रही है... अलग-अलग दरें क्यों तय की जा रही हैं?’’ 

अखिलेश बोले- बंगाल की तर्ज पर CM योगी की मर्जी के बगैर थोपा जा रहा है रिटायर ऑफिसर

राज्य ने अदालत को यह भी सूचित किया कि वह कंपनियों से उसी कीमत पर टीके नहीं खरीद सकता , जिस दर पर निजी अस्पतालों द्वारा खरीद की जा रही है।’’ राज्य ने कहा कि निजी अस्पतालों को टीकाकरण का एकाधिकार नहीं दिया जाना चाहिए। मामले में अब अगले मंगलवार को सुनवाई होगी।

CAA विवाद : गैर-मुस्लिम शरणार्थियों से आवेदन मांगने को लेकर मुस्लिम लीग ने कोर्ट का किया रुख 

 

comments

.
.
.
.
.