Monday, Apr 12, 2021
-->
modi cabinet clearance to citizenship amendment bill

लोकसभा में पास नागरिकता संशोधन बिल, आज होगा राज्यसभा में पेश

  • Updated on 12/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस (congress) समेत कई विपक्षी दलों के विरोध और पूर्वोत्तर राज्यों में विरोध प्रदर्शन के बावजूद केंद्र सरकार ने सोमवार को लोकसभा से नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) पास करा लिया है। 311 वोट बिल के पक्ष में, जबकि 80 सांसदों ने बिल के विरोध में वोट डाला। शाह ने बिल पर बोलते हुए कहा कि इस विधेयक के पीछे किसी भी प्रकार का राजनीतिक एजेंडा नहीं है। अब ये बिल बुधवार यानि आज राज्यसभा में पेश होगा।

       मुख्य बिंदु:-

  • लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पर चर्चा शुरू
  • बिल के विरोध में लोकसभा में हंगामा
  •  बिल से जुड़े हर सवाल का जवाब दूंगा- अमित शाह
  • बिल लोकसभा में हुआ पेश
  • बिल में कहीं भी मुस्लिमों का नाम नहीं, ना ही बिल अल्पसंख्यकों के खिलाफ है - अमित शाह
  • असदुद्दीन ओवैसी का बड़ा बयान कहा, मुल्क को ऐसे कानून से बचाएं गृह मंत्री मुस्लिम इस देश का हिस्सा है। 
  • बिल को लेकर लोकसभा में फिर हुआ हंगामा
  • ये बिल संविधान के खिलाफ नहीं- अमित शाह
  • कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश का विभाजन किया- अमित शाह
  • लोकसभा में बिल पर कुछ देर में होगी वोटिंग
  • लोकसभा में बिल पेश करने को लेकर वोटिंग शुरू
  • बिल पेश करने के पक्ष में 311 वोट, विरोध में 80 वोट पड़े
  • बिल पर कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी बोल रहे हैं, उन्होंने विधेयक पर बोलते हुए कहा कि इस पर पुर्नविचार की आवश्यकता है।
  • जदयू ने किया बिल का समर्थन तो मायावती की पार्टी ने बिल को खोखला बताया
  • सुप्रिया सुले ने बिल पर कहा, मुस्लिमों के मन में डर का माहौल 
  • समाजवादी पार्टी ने विधेयक का किया विरोध तो रामविलास पासवान की पार्टी ने बिल का समर्थन किया 
  • ओवैसी ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल की कॉपी फाड़ी, उन्होंने कहा कि हिटलर के कानून से भी बदतर है ये बिल
  • TRS ने किया बिल का विरोध तो शिरोमणि अकाली दल को रास आया विधेयक

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने असदुद्दीन ओवैसी को अनुचित बातों का प्रयोग न करने की हिदायत देते हुए कहा, कृपया हाउस में इस तरह की भाषा का प्रयोग न करें, अन्यथा की स्थिति में इस टिप्पणी को रिकॉर्ड से बाहर कर दिया जाएगा।

विपक्ष के भारी विरोध के बीच बिल लोकसभा में पेश हो गया है, इस मामले पर अमित शाह ने कहा, बिल से जुड़े हर सवाल का जवाब दूंगा, हाउस से वॉकआउट मत करना।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह लोकसभा में आज पेश करेंगे बिल
केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में इस बिल को मंजूरी दी दई। कैबिनेट की मंजूरी के बाद इस बिल को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह लोकसभा में आज पेश करेंगे। इस बिल के पेश होने के दौरान बीजेपी (BJP) ने अपने सभी सांसदों को सदन में उपस्थित रहने का आदेश दिया है। वहीं पूर्वोत्तर के राज्यों में इस बिल का जमकर विरोध किया जा रहा है।  

क्या है नागरिकता संशोधन बिल, जिसे लाने की तैयारी में है मोदी सरकार

नागरिकता अधिनियम 1955 के प्रावधानों में संशोधन
बता दें कि नागरिकता अधिनियम 1955 के प्रावधानों में संशोधन कर ये बिल लाया जा रहा है। इस संशोधन में मुख्यत: किसी को भी नागरिकता किस आधार पर दी जाए इन प्रवाधानों में सोंशधन किया गया है। इस प्रकार के संशोधन के द्वारा मुस्लिम राष्ट्रों जैसे पाकिस्तान, बांग्लादेश, और अफगानिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाइयों के लिए बिना किसी वैध दस्तावेजों के भी भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान किया जाएगा। जिसके चलते गैर मुस्लिम लोगों के लिए भारतीय नागरिकता हासिल करने का रास्ता साफ हो जाएगा। 

देश के अल्पसंख्यकों को ममता की नसीहत- न करें ओवैसी जैसे नेता पर भरोसा

एनडीए के घटक दल भी कर रहे विरोध
नागरिकता अधिनियम 1955 के प्रावधानों के तहत भारतीय नागरिकता हासिल करने के लिए 11 साल देश में रहना जरूरी है। बताया जा रहा है कि इस अवधि को घटाकर 6 साल किया जा सकता है। केवल विपक्ष ही नहीं पूर्वोत्तर में एनडीए के घटक दल जैसे असम गण परिषद भी इस बिल का विरोध कर रहे हैं। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.