Friday, Jan 21, 2022
-->

Make in India पर मोदी सरकार को मिला झटका, चीन में खुलेगा टेस्ला इंक का कारखाना

  • Updated on 10/25/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमेरिका की कंपनी टेस्ला इंक का नया कारखाना चीन में खोलने का फैसला हुआ है। खबर के अनुसार, टेस्ला ने पहली बार अमेरिका से बाहर कारखाना खोलने का फैसला लिया है।

ताजमहल के पास बने रहे पार्किंग मामले की फिर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

जबकि देश में मोदी सरकार बीते एक साल से टेस्ला और एप्पल जैसी कंपनियों को भारत में मैन्यूफैक्चरिंग करने की मंजूरी देने पर विचार कर रही है। यह मोदी के मेक इन इंडिया को एक बड़ा झटका है। कंपनी यह प्‍लांट चीन के प्रमुख व्‍यवसायिक शहर शंघाई में लगाएगी।

रिपोर्ट के अनुसार चीन में बनने वाले इस कारखाने का मालिक टेस्ला होगा न कि उसे तैयार करने वाला स्थानीय निर्माता। चीन ने इलेक्ट्रिक वेहिकल मैनुफैक्चर्स की सुविधा के लिए हाल ही में कुछ कानूनी रियायतें दी हैं। माना जा रहा है कि चीन टेस्ला को 25 प्रतिशत आयात शुल्क में शायद ही छूट दे। अब चीन में लगने वाली टेस्ला की यह फैक्ट्री न सिर्फ चीन की इलेक्ट्रिक कार बनाने की कोशिशों को साकार करेगी बल्कि यह भी दर्शाएगी कि कैसे मेक इन इंडिया जैसे फ्लैगशिप कार्यक्रम के बावजूद हम दुनिया के मैन्यूफैक्चरिंग हव बनने की दौड़ में पिछड़ रहे हैं। 

शी जिनपिंग, कैसे बने चीन के सबसे ताकतवर नेता?

अब मोदी सरकार के अन्य बड़े बदलावों जैसे नोटबंदी, जीएसटी के साथ मेक इन इंडिया का भी नकारात्मक पक्ष सामने आ रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.