Monday, Nov 18, 2019

जानिए: 66 साल के हुए नरेंद्र मोदी के 6 सबसे चर्चित विवाद

  • Updated on 9/16/2016

Navodayatimes

नई दिल्ली (टीम डिजिटल) : 66 साल के हुए नरेंद्र मोदी के जीवन में कई विवादों के दाग लगे हैं। गुजरात के सीएम से लेकर देश के प्रधानमंत्री बनने तक नरेंद्र मोदी को कई विवादों ने परेशान किया। ज्यादातर विवादों पर नरेंद्र मोदी कभी जवाब नहीं दिया। आईए जानते हैं कि मोदी के 6 सबसे चर्चित विवादों के बारे में। 

 गोधरा कांड:

Navodayatimes

 गुजरात की सत्ता संभालते ही नरेंद्र मोदी का जहां सबसे तेजी से उछला जब गोधरा में नरसंहार हुआ था। इस विवाद की आंच देश में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में महसूस की गई।  27 फरवरी साल 2002 में गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन में आग लग गई थी। जिसमे 59 कारसेवक की मौत हो गई। जिसके बाद पूरा गुजरात धहक उठा था। हिंदू बनाम मुस्लिम की इस लड़ाई में कई लोगों की जानें गई, दुकान और मकानों को क्षति पहुंची।  तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ने भी संदेश दिया था कि मोदी को राजधर्म निभाना चाहिए। मोदी का पीछा इस विवाद ने कई सालों तक किया। विरोधी आज भी आरोप लगाते हैं कि मोदी टीम ने रिश्वत के दम पर गवाह खड़े किए थे जिनके आधार पर मोदी को राहत मिली ।   

 गुजरात एनकाउंटर:  गोधरा में लगी साप्रदायिक आग के अलावा गुजरात में मोदी काल का इशरत जहां एनकाउंटर मामला भी सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहा था। उस विवाद में गुजरात सरकार का रवैया सवालों के घेरे में आया था।  साल 2004 में 15 जून को गुजरात पुलिस ने 4 लोगों को मार गिराया था। जिसमे इशरत जहां, जावेद गुलाम शेख, अमजद अली राणा और जीशान जौहर नाम के 4 लोग शामिल थे। इस एनकाउंटर की अगुवाई डीजी वंजारा ने की थी। लेकिन साल 2009 में मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट एसपी तमांग ने अपने 243 पन्नों की रिपोर्ट सौंपी थी। जिसमे एनकाउंटर को फर्जी बताया था। और गुजरात पुलिस को कोल्ड ब्लेडड मर्डर का दोषी बताया था।

Navodayatimes

इस रिपोर्ट के बाद मामला कोर्ट में पहुंचा, इस पर जमकर सियासी संग्राम भी हुआ। लेकिन पिछले दिनों रिचर्ड हेडली की गवाही में सामने आया कि इशरत जहां भी आतंकी संगठन से जुड़ी महिला थी। इस विवाद की तपिश ने साल 2004 से लेकर 2016 तक नरेंद्र मोदी को तपाया है।

 

पत्नी का विवाद:
Navodayatimes

 सार्वजनिक जीवन में नरेंद्र मोदी का जीवन एक रहस्य था। साल 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान उनकी पत्नी का मामला सामने आया। जहां लोगों को नरेंद्र मोदी की पत्नी के बारे में जानकारी मिली। नरेंद्र मोदी ने अपनी पत्नी को शादी के कुछ साल बाद ही छोड़ दिया था। चुनाव के दौरान ये मसला भी जमकर उठा था। पत्नी को छोड़ देने को लेकर कई संगठनों ने नरेंद्र मोदी की छवि पर सवाल उठाए। लेकिन नरेंद्र मोदी ने कभी भी इन सवालों को कोई जवाब नहीं दिया।  सवाल आज भी पूछे जा रहे हैं।

डिग्री विवाद:

Navodayatimes

नरेंद्र मोदी के खिलाफ ये मामला आम आदमी पार्टी ने उठाया। जिन्होने मोदी की बीए और एमए की डिग्री पर सवाल उठाए। इस विवाद पर मोदी की काफी किरकिरी हुई। डैमेज कंट्रोल की कवायद में अमित शाह और अरुण जेटली सरीखे नेताओं को आना पड़ा था। डिग्री से जुड़े तथ्य भी दिखाए गए लेकिन अरविंद केजरीवाल और उनकी टीम ने सभी तथ्यों को नकार दिया। विवाद की तस्वीरअभी तक धुंधली है, लेकिन सियासी वार पलटवार में ये मामला ठंडा पड़ गया।

संजय जोशी विवाद:

Navodayatimesसंजय जोशी गुजरात बीजेपी के एक कद्दावर नेता माने जाते हैं। जोशी ही वो नेता हैं जिन्होने मोदी को एक वक्त गुजरात से बाहर निकलावकर दिल्ली में बिठवा दिया था। लेकिन 2002 में एक सियासी करवट ने मोदी को सीधे सत्ता की कुर्सी तक पहुंचा दिया। मोदी ने गुजरात में वापसी करते हुए जोशी को गुजरात से बनवास पर भेज दिया था। जिसका कारण है कि संजय जोशी की टीस कई बार बाहर निकल आती है। संजय जोशी मोदी के खिलाफ खुलकर बोलने के लिए जाने जाते हैं। हाल ही में संजय जोशी ने दिल्ली में पीएम मोदी के खिलाफ पोस्टर्स लगाए थे। जिसमे लिखा था कि पाकिस्तान और बांग्लादेश को देते हो रमजान की बधाई सुषमा, आडवाणी, संजय जोशी ,राजनाथ, गडकरी, मुरली मनोहर जोशी, वसुंधरा के लिए मन में है खटाई।

बीजेपी को बांटने का आरोप :

Navodayatimes

मोदी ने बीजेपी को नई ऊचाइंयों पर पहुंचाया। इतिहास रचते हुए बीजेपी के हिस्से में बहुमत आया। बीजेपी में इसे मोदी युग कहा जाता है। इस युग को लाने के लिए मोदी ने कई बड़े कदम उठाए। जिसमे पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को कार्यमुक्त कर मार्गदर्शक मंडल में डाल दिया गया। बीजेपी के सीनियर नेताओं की नाराजगी अक्सर कई मंचों पर देखने को मिल जाती है। मोदी पर इस बात का भी आरोप लगता रहा है कि उन्होने पार्टी को तोड़कर खुद का कद सबसे बड़ा कर लिया। इस आरोप पर विवादों का चोला विरोधी पार्टियां भी डालती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.