देश को मुक्केबाजी का पहला स्वर्ण दिलाने वाला ये शख्स बना महिला टीम का कोच

  • Updated on 1/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत को मुक्केबाजी में राष्ट्रमंडल खेलों का पहला स्वर्ण पदक दिलाने वाले मोहम्मद अली कमर को महिला टीम का मुख्य कोच बनाया गया है जो इस पद पर काबिज होने वाले सबसे युवा कोच होंगे। दो महीने बाद 38 बरस के होने जा रहे अली कमर की नियुक्ति सोमवार की रात हुई जो शिव सिंह की जगह लेंगे ।

वह एक साल से अधिक समय से राष्ट्रीय शिविर में सहायक कोच थे । अर्जुन पुरस्कार प्राप्त कमर रेलवे खेल संवर्धन बोर्ड की महिला टीम के कोच भी रह चुके हें । उन्होंने कहा, यह मेरे लिये हैरानी भरा था और मुझे कल रात ही पता चला ।

IndvsAus 2nd ODI: भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हराया

मैं भारतीय मुक्केबाजी महासंघ का शुक्रगुजार हूं जिसने मुझे इस जिम्मेदारी के लायक समझा। मैनचेस्टर राष्ट्रमंडल खेल 2002 में स्वर्ण पदक जीतने वाले कमर इतालवी कोच रफेले बर्गामास्को के साथ काम करेंगे । 

उनके साथ सात सहायक कोच होंगे जिनमें एम सी मेरीकाम के ट्रेनर छोटे लाल यादव शामिल है। शिविर के लिये अपनी भावी योजनाओं के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा ,‘मेरा फोकस फिटनेस पर होगा । इस तरह के खेल में फिटनेस सबसे जरूरी है । मैं ट्रेनिंग कार्यक्रम में कुछ बदलाव करूंगा लेकिन पहले अपने साथी कोचों से बात करूंगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.