Thursday, Dec 09, 2021
-->
more than 1 thousand cases of black fungus in delhi kmbsnt

दिल्ली में ब्लैक फंगस का कहर! अब तक एक हजार से ज्यादा केस आए सामने, 89 की मौत

  • Updated on 6/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजधानी दिल्ली को कोरोना संक्रमण से तो राहत मिलने लगी है, लेकिन ब्लैक फंगस के बढ़ते मामले अब जनता और प्रशासन के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। अब तक यहां पर ब्लैक फंगस के 1044 मामले सामने आ चुके हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने जानकारी दी है कि अब तक ब्लैक फंगस के शिकार 89 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं 92 लोग इसे मात देकर ठीक हो चुके हैं।  

लगातार बढ़ रहे ब्लैक फंगस के मामलों के चलते इसकी दवा एम्फोटेरिसिन-बी की भी बाजार में कमी हो गई है। हाल ही में दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले पर सरकार को कड़े निर्णय लेने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने ब्लैक फंगस के शिकार रोगियों के उपचार में उपयोगी दवा के वितरण पर केंद्र और दिल्ली सरकार से नीति बनाने को कहा है। 

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को दिया कोरोना टीकाकरण नीति पर दस्तावेज पेश करने का निर्देश

सरकार को करने होंगे कड़े फैसले - दिल्ली हाईकोर्ट 
हाई कोर्ट के न्यायाधीश विपिन सांघी और न्यायाधीश जसमीत सिंह की बेंच ने कहा कि यह वह गोली है जो आपको लेनी है और आपको यह जरूरी निर्णय करना है जो आसान काम नहीं है। बेंच ने स्पष्ट किया कि वह यह बिल्कुल नहीं कह रही है कि किसी एक व्यक्ति का जीवन किसी दूसरे से कम महत्वपूर्ण है। कोर्ट ने केंद्र व दिल्ली सरकार से कहा कि वह ब्लैक संगत से पीड़ित रोगियों के उपचार में काम आने वाली दवा एम्फोटेरिसिन-बी के वितरण पर एक नीति तैयार करें।

मुख्यमंत्रियों को पत्र लिख पटनायक ने केंद्र की तरफ से कोविड टीकों की खरीद की वकालत की 

सरकार को लेना होगा ये जरूरी फैसला- HC 
कोर्ट ने कहा कि जब तक दवा की कमी है तब तकएक निश्चित आयु समूह श्रेणी के लोगों को बाहर करने का निर्णय सरकार करें। कोर्ट ने कहा कि यह निर्णय डॉक्टर पर ना छोड़ा जाए और इस संबंध में एक स्पष्ट नीति तैयार की जाए। कोर्ट ने कहा कि यदि 2 रोगी हैं, जिनमें से एक की उम्र 80 साल तथा एक उम्र 35 साल है और दवा की केवल एक ही खुराक है। तो यह किसे दी जानी चाहिए। यह जरूरी निर्णय आपको ही करना है। इसीलिए इस संबंध में दवा वितरण को लेकर एक नीति तैयार करें। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.