Tuesday, May 21, 2019

2040 तक हर साल 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों को कीमोथैरेपी की जरूरत पड़ेगी: अध्ययन

  • Updated on 5/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वर्ष 2040 तक हर साल दुनिया भर में 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों को कीमोथैरेपी (chemotherapy) की जरूरत पड़ेगी। निम्न और मध्यम आमदनी वाले देशों में कैंसर (Cancer Patients) के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इलाज करने वाले करीब एक लाख कैंसर डॉक्टरों की भी आवश्यकता होगी। एक नए अध्ययन में यह दावा किया गया है। 

दुनिया की सबसे बड़ी रेडियो दूरबीन के ‘मस्तिष्क’ का डिजाईन तैयार

प्रतिष्ठित पत्रिका ‘‘लांसेट ऑन्कोलॉजी’’ में हाल में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि 2018 से 2040 तक दुनिया भर  में हर साल कीमोथैरेपी (chemotherapy) कराने वाले मरीजों की संख्या 53 प्रतिशत के इजाफे के साथ 98 लाख से 1.5 करोड़ हो जाएगी । राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और वैश्विक स्तर पर कीमोथैरपी के लिए पहली बार अध्ययन में इस तरह का आकलन किया गया है ।  सिडनी (sidney) में यूनिर्विसटी ऑफ न्यू साउथ वेल्स, ऑस्ट्रेलिया (australia) के इंगहैम इंस्टीट्यूट फॉर अप्लाइड मेडिकल रिसर्च, किंगहार्न कैंसर सेंटर, लीवरपूल कैंसर थैरेपी सेंटर और इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर, लिओन के अध्ययनर्किमयों ने यह अध्ययन किया है।  

USA: राष्ट्रपति ट्रंप के रिसॉर्ट के पास गोलीबारी, एक व्यक्ति की मौत, दो अन्य घायल

यूएनएसडब्ल्यू  (unswd) की अध्ययनकर्मी ब्रुक विल्सन के मुताबिक दुनिया भर में कैंसर का बढ़ रहा खतरा निस्संदेह आज के समय में स्वास्थ्य के क्षेत्र में सबसे बड़ा संकट है। उन्होंने कहा कि मौजूदा और भविष्य के मरीजों के सुरक्षित उपचार के लिए वैश्विक स्वास्थ्य कार्यबल को तैयार करने के लिए तुरंत रणनीति बनाने की जरूरत है । 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.