Saturday, Jul 31, 2021
-->
more than 79 percent deaths due to corona  10 states including maharashtra up rkdsnt

भारत में कोरोना से 79 फीसदी से अधिक मौत महाराष्ट्र, यूपी समेत 10 राज्यों में

  • Updated on 4/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र, दिल्ली और उत्तर प्रदेश उन 10 राज्यों में शामिल हैं जहां कोविड-19 से रोज होने वाली मौत के 78.53 प्रतिशत मामले सामने आए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में 3,293 लोगों ने जान गंवा दी जो अब तक एक दिन में हुई सबसे अधिक मौत हुई है। इसके साथ ही मरने वाले लोगों की संख्या 2,01,187 पर पहुंच गई है। 

ऑक्सीजन को लेकर पीएम मोदी युद्ध स्तर पर कर रहे हैं निगरानी : सुप्रीम कोर्ट में केंद्र का हलफनामा

छत्तीसगढ़, कर्नाटक, गुजरात, झारखंड, राजस्थान, पंजाब, मध्य प्रदेश उन 10 राज्यों में शामिल हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 85 लोगों की मौत हुई। दिल्ली में 381, उत्तर प्रदेश में 264, छत्तीसगढ़ में 246, कर्नाटक में 180, गुजरात में 170, झारखंड में 131, राजस्थान में 121 और पंजाब में 100 लोगों की मौत हुई।

 पीएम मोदी ने की वायु सेना के कोरोना संबंधी अभियान की समीक्षा

मंत्रालय ने कहा, ‘‘राष्ट्रीय मृत्यु दर गिर रही है और अभी मृत्यु दर 1.12 प्रतिशत है।’’ कोरोना वायरस के 73.5 प्रतिशत नए मामले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान में एक दिन में आए। महाराष्ट्र में एक दिन में सबसे अधिक 66,358 नए मामले आए। उत्तर प्रदेश में 32,21 मामले आए जबकि केरल में 32,81 नए मामले आए। 

जनता ऑक्सीजन के लिए भटक रही, योगी सरकार ‘झूठ’ बोल रही : अखिलेश यादव

भारत में कोरोना वायरस के 29,78,709 मरीज उपचाराधीन हैं जो देश में संक्रमण के कुल मामलों का 16.55 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 95,505 की वृद्धि हुई। मंत्रालय ने बताया कि देश में उपचाराधीन मरीजों में से कुल 71.91 प्रतिशत महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, केरल, राजस्थान, गुजरात, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में हैं। भारत में कुल 1,48,17,371 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 2,61,162 मरीज स्वस्थ हुए हैं। 

प्रधानमंत्री मोदी की चाची नर्मदाबेन नहीं रहीं, गुजरात में कोरोना से निधन

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.