Sunday, Sep 26, 2021
-->
most dangerous truth of corona infection is spreading rapidly through the eyes prsgnt

कोरोना का सबसे खतरनाक सच! आंखों के जरिए तेजी से शरीर में फैल रहा है संक्रमण

  • Updated on 5/9/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया परेशान है। हर रोज इसके निदान के लिए शोध कार्य किए जा रहे हैं। इस बीच लगातार हो रही रिसर्चों से कोरोना वायरस को लेकर जो खुलासे हो रहे हैं वो दुनिया की परेशानी को और बढ़ा रहे हैं।

दुनिया के सभी वैज्ञानिक, शोधकर्ता इन रिसर्चों से यह पता लगाना चाहते हैं कि किस तरह से कोरोना को हराया जा सके, कोई एक कमजोर कड़ी सामने आए जिससे कोरोना को कमजोर किया जा सके। लेकिन अब तक हुई ज्यादातर रिसर्चों में हैरान कर देने वाली बातें समाने आई है।

दक्षिण कोरिया ने 3टी मॉडल से जीती कोरोना की जंग, क्या भारत भी अपना सकता है 3टी ?

क्या कहता है ताजा शोध
हालिया दिनों में यूनिवर्सिटी ऑफ हांग कांग द्वारा कोरोना वायरस पर किए गए शोध में जो खुलासा हुआ है उसने एक फिर कोरोना को लेकर डर बढ़ा दिया है। इस शोध के अनुसार, कोरोना वायरस आंखों के जरिए इंसान के शरीर में तेजी से प्रवेश करता है।

इतना ही नहीं हैरान-परेशान करने वाली बात ये है कि कोरोना का वायरस, सार्स और बर्ड फ्लू की तुलना में आंखों के जरिए 100 गुना ज्यादा तेजी से इंसान की बॉडी में प्रवेश करता है।

इस बारे में शोध से जुड़े डॉक्‍टर माइकल चान की टीम ने अध्ययन करते हुए यह सबूत पाया है कि कोरोना वायरस इंसान के शरीर में आंखों के जरिए प्रवेश कर रहा है।

मंत्रालय ने जारी की नई डिस्चार्ज नीति, क्या आगे और तेजी से बढ़ने वाले हैं कोरोना के मरीज?

आंखों की हुई जांच
इस बारे में साउथ चाइना मोर्निंग पोस्ट में छपे इस शोध के मुताबिक, डॉ. चान का कहना है कि हमे इंसान की श्वसन प्रणाली और आंखों की कोशिकाओं की जांच की है। जिसमें पाया गया है कि सार्स-कोव-2 वायरस इंसान की आंख और ऊपरी सांस के जरिए सार्स और बर्ड फ्लू से भी ज्यादा तेजी से लोगों को संक्रमित बना रहा है।

सावधान! सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल आपकी स्किन को बना सकता है बीमार

आम लोगों के लिए सलाह
इस शोध के बाद लोगों के लिए कोरोना वायरस से बचने के लिए सलाह जारी की गई है। इसमें कहा गया है कि लोगों को अपने हाथ आंखों से दूर रखने होंगे, अपनी आंखों को छूना और सहलाना बंद करना होगा। साथ ही हाथ धोने की आदत को बढ़ाना होगा।

यहां ये भी कहा गया है कि हाथों को साबुन और पानी से धोया जाए। सैनीटाइजर का इस्तेमाल घर में न करें।  इससे पहले एक शोध में कोरोना वायरस के वस्तुओं पर जिन्दा रहने के बारे में बताया गया था।

कोरोनाः महज दो महीने में PPE किट का दूसरा बड़ा निर्माता बना भारत, विदेशों में बढ़ी मांग

कोरोना ने ली लाखों की जान
दुनियाभर से कोरोना वायरस की चपेट में आए मामलों को देखते हुए कहा जा सकता है कि यह महामारी कहीं ज्यादा शक्तिशाली है। इसके चलते दुनिया में अब तक ढाई लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इस वक्त कोरोना का सबसे बड़ा गढ़ अमेरिका बन चुका है।

इसके बाद इटली, फ्रांस, स्पेन और भारत का नाम है। भारत में भी कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 60 हजार को पार कर के करीब है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.