Sunday, Jan 24, 2021

Live Updates: Unlock 8- Day 24

Last Updated: Sun Jan 24 2021 08:53 PM

corona virus

Total Cases

10,660,477

Recovered

10,321,005

Deaths

153,457

  • INDIA10,660,477
  • MAHARASTRA2,009,106
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA935,478
  • KERALA911,382
  • TAMIL NADU834,740
  • NEW DELHI633,924
  • UTTAR PRADESH598,710
  • WEST BENGAL568,103
  • ODISHA334,150
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • RAJASTHAN316,485
  • JHARKHAND310,675
  • CHHATTISGARH296,326
  • TELANGANA293,056
  • HARYANA267,075
  • BIHAR259,766
  • GUJARAT258,687
  • MADHYA PRADESH253,114
  • ASSAM216,976
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB171,733
  • JAMMU & KASHMIR123,946
  • UTTARAKHAND95,586
  • HIMACHAL PRADESH57,189
  • GOA49,362
  • PUDUCHERRY38,646
  • TRIPURA33,035
  • MANIPUR27,155
  • MEGHALAYA12,866
  • NAGALAND11,709
  • LADAKH9,155
  • SIKKIM6,068
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,993
  • MIZORAM4,351
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,377
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
most-disputed-statements-of-the-politicians

सियासत में अय्यर के अलावा और भी हैं विवादित बयानों की 'बे-हयाई' करने वाले...

  • Updated on 2/13/2018

नई दिल्ली/श्वेता यादव। राजनीति में सियासी बयानबाजी और छींटाकशी की होड़ इतनी बुरी है कि राजनेता अक्सर अपने पद और ओहदे की सीमा तक लांघ जाते हैं। इन सबके बीच धर्म-जाति को खींचने से लेकर व्यक्तिगत टिप्पणी तक की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए विवादित बयान देने वाले कांग्रेस के निलंबित वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर एक बार फिर विवादों में घिर गए है। कराची में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पाकिस्तान की नीतियों की तारीफ की और भारतीय नीतियों को लेकर दुख जताया है जिसके बाद वो सबके निशाने पर आ गए हैं। 

ये पहली बार नहीं है कि किसी नेता ने ऐसी बेतुके बयान दिए हो। ये फेहरिस्त बहुत लंबी है। आएये जानते हैं कौन से हैं वो बयानबाज नेता जो अपने काम से ज्यादा बयानों से सियासत चमकातें आए हैं। ये रही लिस्ट:

मणिशंकर अय्यर

कराची में  एक कार्यक्रम ही नहीं बल्कि गुजरात चुनावों में कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर बयानबाजी में सबसे आगे थे। मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को नीच कह दिया जिसके बाद खूब बवाल हुआ। 'एक व्यक्ति जोकि लगातार अंबेडकर व नेहरूजी के सपने को पूरा करने के लिए काम कर रहा है। उस परिवार के बारे में गलत बात करना, मुझे लगता है कि ये नीच आदमी है, उसे बात करने की तमीज नहीं है, इस समय में इस तरह की बात करने की क्या जरूरत थी। ' लेकिन इसके बाद उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया गया।

Navodayatimes

साक्षी महाराज

वैसे तो बयानबाजी और तंजबाजी में कोई भी पार्टी पीछे नहीं रही लेकिन इसमें बीजेपी के नेता रेस में आगे निकल गए। सबसे पहले बात करें साक्षी महाराज की जिनके बयानों के बिना सियासत कई बार पूरी नहीं होती। बीजेपी के सबसे विवादित नेता उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज एक बार फिर चर्चा में आ गए। मेरठ में एक कार्यक्रम के दौरान मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाते हुए बयान दिया कि 'देश की आबादी हिंदुओं की वजह से नहीं बढ़ रही है, ये कुछ समुदाय के लोगों के कारण बढ़ रही है जो चार पत्नी रखते हैं और 40 बच्चे पैदा करते हैं।' उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले साक्षी महाराज ने यह बयान दिया था जिसके बाद खूब विवाद हुआ।

Navodayatimes

विनय कटियार

वहीं विवादों से चोली दामन का साथ रखने वाले विनय कटियार भी पीछे नही रहे। कटियार ने प्रियंका गांधी पर सीधे टिप्पणी करते हुए कहा कि 'प्रियंका गांधी से बहुत सी सुंदर महिलाएं हैं जो स्टार प्रचारक हैं।' उनके इस बयान पर कांग्रेसी खूब बरसे। उन्होंने यह बयान उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले दिया था। इसके बाद ताजमहल को 'तेजोमहालय' बताते हुए भगवान शिव का मंदिर बताया और खूब विवाद हुआ।

Navodayatimes

शरद यादव

इसके बाद जनता दल के पूर्व नेता शरद यादव भी 'बेटी की इज्जत से भी वोट की इज्जत बड़ी है, बेटी की इज्जत जाएगी तो गांव और मोहल्ले की इज्जत जाएगी, लेकिन वोट एक बार बिक गया तो देश की इज्जत और आने वाला सपना पूरा नहीं हो सकता है।'  बोलकर विवादों से घिर गए।

Navodayatimes

दयाशंकर सिंह

इसके बाद लिस्ट में नाम आता है बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह का जिन्होंने बसपा सुप्रीमों को वेश्या बताते हुए कहा कि 'एक वेश्या से भी बदतर चरित्र की आज मायावती जी हो गईं हैं, इसलिए काशीराम के बनाए कार्यकर्ता उनका साथ छोड़कर जा रहे हैं और बसपा समाप्त हो रही है। ' जिसके बाद पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया।

Navodayatimes

संदीप दीक्षित

इसके बाद कांग्रेस नेता और शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित आर्मी चीफ बिपिन रावत को 'सड़क का गुंडा'  बताकर सुर्खियों में आ गए। 

Navodayatimes

संगीत सोम

वहीं बीजेपी के फायरब्रांड नेता संगीत सोम भी विवादों से घिरे रहे। सोम ने दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताजमहल को निशाने पर लेते हुए बयान दिया कि 'ताजमहल को देशद्रोहियों ने बनवाया था। साथ ही ताजमहल को भारतीय संस्कृति पर धब्बा बताते हुए उसे इतिहास में शामिल ना किए जाने की बात कही।' जिसके बाद सोम ऐसे घिरे की खुद ही किरकिरी करवा बैठे।

Navodayatimes

आजम खां

सोम के बयान को नजरअंदाज करने के बजाय इसपर खूब सियासत हुई। सपा नेता आजम खां इसमें कूद पड़े और बोले की 'मैं पहले से ही ये राय रखता हूं कि गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए जिनसे कल के शासकों की बू आती हो, अकेले ताजमहल ही क्यों संसद भवन, राष्ट्रपति भवन, कुतुब मीनार, लाल किला क्यों नहीं। ये सब गुलामी की निशानी है।' जिसके बाद तो ताजमहल देश की सियासत में रह रहकर शामिल होता रहा और गहमा गहमी बढ़ाता रहा।

Navodayatimes

योगी आदित्यनाथ

यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ भी अपनी पद की गरिमा ना बना रख पाए और उनकी जुबान फिसल गई। कर्नाटक में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 'कांग्रेस हनुमान की पूजा करने के बजाए टीपू सुल्तान की पूजा करती है। ' जिसके बाद इसपर भी खूब सियायत हुई।

Navodayatimes

ज्ञानदेव अहूजा

गाय की तस्करी को लेकर राजस्‍थान के अलवर में बीजेपी के विधायक ज्ञानदेव अहूजा बोल पड़े की 'अगर गाय की तस्‍करी करते रहोगे तो यूंही मरोगे।' पहले भी अहूजा अपने बयानों को लेकर चर्चा में बने रहे हैं।

Navodayatimes

अनंत कुमार हेगड़े

हाल ही में केंद्रीय कौशल विकास राज्यमंत्री अनंत कुमार हेगड़े विवादों से घिर गए। उन्होंने खुद अपनी पार्टी को ही विवादों में डाल दिया। हेगड़े ने कहा कि 'लोग धर्मनिरपेक्ष शब्द से इसलिए सहमत हैं, क्योंकि यह संविधान में लिखा है। ये संविधान बहुत पहले बदल दिया जाना चाहिए था और अब हम इसे बदलने जा रहे हैं।' उन्होंने कहा 'जो लोग खुद को धर्मनिरपेक्ष कहते हैं, वो बिना माता-पिता से जन्म की तरह हैं। अगर कोई कहता है कि मैं मुस्लिम, ईसाई, लिंगायत, ब्रह्मण या हिंदू हूं, तो मुझे खुशी महसूस होती है, क्योंकि वे अपनी जड़ों को जानते हैं। जो खुद को धर्मनिरपेक्ष कहते हैं, मैं नहीं जानता उन्हें क्या कहा जाए।'   हेगड़े के इस बयान पर खूब सियासत हुई जो अभी भी जारी है।

Navodayatimes

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.