मुकेश अंबानी को सताई भारतीयों के डेटा की चिंता, PM मोदी से की अपील

  • Updated on 1/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ‘डेटा के औपनिवेशीकरण’ के खिलाफ कदम उठाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि भारत के लोगों के डेटा भारतीयों के पास ही रहने चाहिए।

चिदंबरम ने राफेल मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा, जेपीसी को बताया जरूरी

राजनीतिक औपनिवेशीकरण के खिलाफ महात्मा गांधी के अभियान का उल्लेख करते हुए अंबानी ने कहा कि भारत को अब डेटा पर दूसरे देशों के कब्जे को खत्म करने के लिए नया अभियान छेड़ने की जरूरत है।

चीफ जस्टिस गोगोई के निशाने पर क्यों आए प्रशांत भूषण?

वाइब्रेंट गुजरात समिट में अंबानी ने कहा, 'गांधी जी की अगुवाई में भारत ने राजनीतिक औपनिवेशीकरण के खिलाफ अभियान चलाया। अब हमें आंकड़ों के औपनिवेशीकरण के खिलाफ सामूहिक तौर पर अभियान छेड़ने की जरूरत है।'

केजरीवाल बोले- दिल्ली के लोगों ने रचा इतिहास, अब हरियाणा की बारी है

अंबानी ने कहा कि नये विश्व में डेटा नयी संपत्ति है। उन्होंने कहा, 'भारतीय आंकड़े भारत के लोगों के पास होने चाहिए, ना कि कॉरपोरेट्स के पास खासकर वैश्विक कॉरपोरेशनों के पास।' अंबानी ने भारतीय लोगों के आंकड़ों को वापस भारत लाने के लिए प्रयास करने का आह्वान किया। 

BCI ने जस्टिस खन्ना को सुप्रीम कोर्ट का न्यायाधीश बनाने का किया विरोध

दिग्गज उद्योगपति ने प्रधानमंत्री की सरहाना करते हुए कहा कि पूरे विश्व में ‘मोदी’ की पहचान काम करने वाले व्यक्ति के रूप में हुई है। अंबानी ने कहा, 'माननीय प्रधानमंत्री, मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि आप इसे डिजिटल भारत मिशन का एक प्रमुख लक्ष्य बनाएंगे।'

मायावती ने भतीजे आकाश आनंद को लेकर मीडिया पर निकाली भड़ास

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.