Thursday, Apr 15, 2021
-->
mukhtar abbas naqvi said mushaira strengthens the strength of unity in diversity pragnt

नकवी बोले- अनेकता में एकता की ताकत को मजबूत करते हैं मुशायरे

  • Updated on 2/13/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने कहा कि मुशायरे और कवि सम्मेलन देश की धरोहर हैं जो अनेकता में एकता की देश की ताकत को और मजबूत बनाते हैं। आधिकारिक बयान के मुताबिक, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय 20 फरवरी को यहां आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र में 'एक भारत-श्रेष्ठ भारत' मुशायरे का आयोजन करेगा।

कृषि कानून: प्रियंका गांधी का आरोप- योगी सरकार ने UP के गन्ना किसानों की दुर्गति कर दी है

मुशायरे और कवि सम्मेलन देश की धरोहर- नकवी
नकवी ने बताया, 'इस कार्यक्रम में 'एक भारत-श्रेष्ठ भारत' के संकल्प से सराबोर खूबसूरत रंग दिखेंगे और शायरों के कलाम 'आत्मनिर्भर भारत' के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहे हिंदुस्तान का एहसास कराएंगे।' उन्होंने कहा, 'मुशायरे, कवि सम्मेलन हमारी शानदार धरोहर हैं। इनके जरिये हम 'अनेकता में एकता' की हिंदुस्तानी ताकत को और मजबूत करते हैं।'

सरकारी बैंकों के निजीकरण के खिलाफ श्रमिक संगठनों ने किया हड़ताल का ऐलान

निर्मला सीतारमण ने दिया जवाब
सीतारमण ने लोकसभा में वित्त वर्ष 2021-22 के बजट पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए यह भी कहा कि सुधार के कदमों को उठाने का मकसद भारत को दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनाना है। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था में सुस्ती के मद्देनजर कई विशेषज्ञों से चर्चा के बाद यह बजट लाया गया है और इस बजट ने भारत के आत्मनिर्भर बनने की भूमिका रखी है।

किसानों को बीच में छोड़कर नहीं जाएंगे, किसान अपने खर्चे से चला रहे आंदोलन: नरेश टिकैत

कोरोना की चुनौती को किया पार
वित्त मंत्री ने कहा कि कुछ दूसरे देशों में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप अब भी है, लेकिन यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जिस तरह से काम हुआ और स्थिति से जिस तरह से निपटा गया है उसका नतीजा है कि अर्थव्यवस्था सतत रूप से आगे बढ़ रही है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि महामारी की चुनौतीपूर्ण स्थिति भी सरकार को देश के दीर्घकालीन विकास के लिए सुधार के कदम उठाने से नहीं डिगा सकी।

तमिलनाडु की पटाखा फैक्ट्री में आग से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 19 हुआ, मुआवजे का ऐलान

कांग्रेस पर साधा निशाना
उन्होंने विपक्षी कांग्रेस पर नाम लिये बिना निशाना साधा और कहा कि आजादी के बाद से सत्ता में रहने वाली पार्टी को 1991 में आर्थिक सुधारों की बात सूझी और इस सरकार से और प्रधानमंत्री से बार-बार आर्थिक सुधारों को लेकर सवाल पूछे जाते हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी सदन में उपस्थित थे। सीतारमण ने कहा कि जनसंघ के दिनों से लेकर आज तक भाजपा की आर्थिक नीतियां एकरूप रही हैं और सरकार ने भारतीय उद्यमियों, व्यापारियों, युवाओं आदि के कौशल को सम्मान दिया है। उन्होंने कहा कि मोदी नीत राजग सरकार ने करदाताओं, उद्यमियों और ईमानदार नागरिकों का सम्मान करते हुए इन नीतियों का पालन किया है।

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.