Sunday, May 22, 2022
-->
mundka fire: people wandering in misery in search of their loved ones

मुंडका अग्निकांडः अपनों की तलाश में बदहवास होकर भटकते रहे लोग

  • Updated on 5/14/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोग अपनों की तलाश में बदहवास होकर इधर-उधर भाग रहे थे। आमिर नाम के युवक के परिजनों ने बताया कि उनका बेटा कंपनी में काम करता है, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल रहा है। नांगलोई में रहने वाली ममता ने बताया कि उसकी मां इस कंपनी में काम करती थी। उनके बारे में कोई कुछ नहीं बता रहा है, सब अपनों की तलाश में दर दर भटक रहे हैं। नूर ने बताया कि उसका भाई भी नहीं मिल रहा है, पता नहीं जिंदा है या मुर्दा है। जिस तरह से आग लगी है, उससे लगता है कि उसका भाई भी आग की चपेट में आ गया है।

लोग असहाय बन देखते रहे आग का तांडव

आग लगने के बाद मुख्य सड़क पर आग को देखकर भारी जाम लग गया था। दमकल की गाडिय़ों को भी मौके पर पहुंचने में दिक्कतें हो रही थीं। जो लोग वहां रुककर आग और उसमें फंसे लोगों की आवाजों को सुन रहे थे। वो चाहकर भी कुछ नहीं कर पा रहे रहे थे। बस मोबाइल से वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल रहे थे। 

पहली मंजिल से कूदकर पूजा ने बचाई जान

नांगलोई के पी ब्लॉक में रहने वाली पूजा के परिजनों ने बताया कि पूजा अपनी भांजी दृष्टि के साथ फैक्ट्री में काम करती है। फैक्ट्री मे दोपहर के वक्त करीब 2 सौ लोगों की मीटिंग चल रही थी। इसी दौरान सीढ़ी के पास रखे जनरेटर में शॉर्ट सर्किट होने से आग लग गई।

आग के बाद नीचे जाने वाली सीढ़ी में आग और धुएं का गुब्बार बन गया। सभी ऊपर की तरफ भागे और खिड़की से रस्सी नीचे  लटका दी। जो जमीन से करीब दस फुट ऊपर थी। कर्मचारी उस रस्सी के सहारे नीचे कूदे।  परिजनों ने बताया कि पूजा तो मिल गई है लेकिन उसकी बहन अभी भी लापता है।

पूजा ने बताया कि उसको शक है कि कंपनी में उसके कई साथियों की जलने से मौत हो गई है। उसने खुद पहली मंजिल से कूदकर अपनी जान बचाई। उसके दाएं हाथ के पंजे में काफी चोट लगी है।

खबर पता चलते ही मौके पर पहुंचे परिजन
 इमारत में काम करने वाले कुछ ने बताया कि आग की खबर उनके इलाके में आग की तरह से फैली थी, जब इस इमारत के बारे में पता चला तो हम अपनों के बारे में जानने के बारे में मौके पर पहुंचे थे लेकिन कोई इमारत के आसपास भी नहीं जाने दे रहा था, संपर्क करने के लिए फोन भी कोई नहीं उठा रहा था। काफी देर बाद कुछ कर्मचारियों से संपर्क हुआ। 

देर रात तक चलता रहा रेस्क्यू ऑपरेशन
 पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिस तरह से आग लगी और इमारत से बाहर आए लोगों से बातचीत हुई साथ ही उनके पास काफी लोग ऐसे आए जो अपनों की तलाश में हमसे पूछ रहे थे, उससे लगता है कि पहली व दूसरी मंजिल पर कई लोग फंसे रह गए थे, जिसको लेकर दमकलकर्मी रात को अंदर जाकर तलाशी अभियान में जुटे हुए थे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.