Thursday, Aug 18, 2022
-->
musical-tribute-to-artists-who-passed-away-from-corona

कोरोना से गुजरे कलाकारों को दी संगीतमय श्रद्धांजलि

  • Updated on 12/27/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश के लिए शास्त्रीय संगीत में अविष्मरणीय योगदान देने वाली श्रेष्ठतम विभूतियां जिन्होंने इस वर्ष कोरोना से जिंदगी की जंग नहीं जीत पाई। इन्हीं स्व. पं. राजन मिश्रा, पं. देबू चौधरी, पं. शुभांकर बनर्जी और पं. प्रतीक चौधरी को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में हमनवाज ट्रस्ट द्वारा दी जा रही संगीतमय श्रद्धांजलि के दूसरे दिन रविवार को स्व.पं शुभांकर बनर्जी के बेटे आर्चिक बनर्जी ने तबला पर सोलो प्रस्तुति देकर अपने पिता को श्रद्धांजलि दी। उनके साथ सारंगी पर संगत की मुदासिर खान ने। रविवार को दूसरे कार्यक्रम के दूसरे चरण में अदनान खान ने राग यमन कल्याण में प्रस्तुति दी। उनके साथ तबले पर संगत की मेरठ के अजराना घराने के उस्ताद अकरम खान ने। 

Vinod Mehra के साथ मरते दम तक रही थीं Rekha, एक्टर की पत्नी ने खोले कई राज

हमनवाज ट्रस्ट ने आईजीएनसीए में आयोजित किया दो दिवसीय कार्यक्रम  
रविवार को श्रद्धांजलि की अंतिम प्रस्तुति रही देश के प्रख्यात फ्लूट वादक पं. प्रवीन गोडखिंडी और उनके बेटे शदज गोडखिंडी की। उन्होंने राग रागेश्वरी और रूपक ताल में प्रस्तुति दी। तबले पर पंडित प्रवीन के साथ संगत की जोहेब अहमद खान ने। बता दें इस श्रद्धांजलि कार्यक्रम की शुरुआत शनिवार को हुई थी। जिसमें पहली प्रस्तुति रही पं. देबू चौधरी के शार्गिद नील रंजन मुखर्जी, अधिराज चौधरी और सुभान खान की। शनिवार की दूसरी प्रस्तुति पं. राजन मिश्रा के बेटे पं. रीतेश रजनीश मिश्रा, उस्ताद अकरम खान और सुमित मिश्रा ने दी। हमनवाज ट्रस्ट के जुहैब अहमद खान ने कार्यक्रम के दौरान बताया कि वह आने वाले समय में निशुल्क संगीत शिक्षा देंगे साथ ही कोविड-19 प्रभावित संगीतकारों को जरूरत के हिसाब से मदद करेंगे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.