Friday, Dec 02, 2022
-->
musk-hints-at-buying-twitter-for-less-than-44-billion

मस्क ने 44 अरब डॉलर से कम कीमत में Twitter खरीदने के संकेत दिए 

  • Updated on 5/17/2022


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एलन मस्क ने सोमवार को संकेत दिए कि वह माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर के अधिग्रहण के लिए 44 अरब डॉलर से कम राशि का भुगतान करना चाहेंगे। मस्क ने पिछले महीने साइट की खरीदारी के लिए 44 अरब डॉलर की पेशकेश की थी।  ‘ब्लूमबर्ग न्यूज’ की एक खबर के मुताबिक, मियामी में आयोजित एक ‘टेक’ सम्मेलन में मस्क ने कहा कि ट्विटर  के अधिग्रहण के संबंध में एक कम कीमत वाला व्यवहार्य समझौता संभव है।  

राहुल गांधी बोले- भाजपा ‘दो हिंदुस्तान’ बनाना चाहती है जबकि कांग्रेस....

    वेबसाइट ने एक ट्विटर यूजर द्वारा प्रसारित सम्मेलन के लाइव वीडियो के आधार पर यह रिपोर्ट प्रकाशित की है।      रिपोर्ट के अनुसार, ‘ऑल इन समिट’ में मस्क ने अनुमान जताया कि ट्विटर पर मौजूद 22.9 करोड़ अकाउंट में से कम से कम 20 फीसदी अकाउंट ‘स्पैम बोट’ द्वारा संचालित किए जा रहे हैं।     

आर्थिक नीतियों को फिर से तय करने पर विचार करे सरकार : चिदंबरम 

‘स्पैम बोट’ इंटरनेट पर मौजूद उन स्वचालित सॉफ्टवेयर को कहते हैं, जो उपयोगकर्ताओं को बड़ी संख्या में स्पैम संदेश भेजते हैं या फिर ऑनलाइन मंचों पर बड़ी तादाद में स्पैम संदेश पोस्ट करते हैं। स्पैम संदेश का स्रोत इन्हें प्राप्त करने वाले लोगों को भी मालूम नहीं होता है।      मस्क की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब उन्होंने ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल के उन ट्वीट को लेकर उन पर निशाना साधा है, जिनमें कहा गया है कि ट्विटर ‘स्पैम बोट’ से निपटने की कवायद में जुटा है और साइट पर मौजूद पांच फीसदी से भी कम अकाउंट फर्जी हैं।   

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वेक्षण से आहत ओवैसी बोले- सुप्रीम कोर्ट के फैसले की अनदेखी हुई 

  कुल मिलाकर, सम्मेलन में मस्क द्वारा की गई टिप्पणियों से विश्लेषक अटकलें लगा रहे हैं कि टेस्ला के सीईओ या तो इस समझौते से पीछे हटना चाहते हैं या फिर कम कीमत में ट्विटर के अधिग्रहण की कवायद में जुटे हैं। उन्होंने इसके पीछे टेस्ला के शेयर की कीमतों में आई भारी गिरावट को जिम्मेदार ठहराया है, जिनमें से कुछ का इस्तेमाल मस्क ट््िवटर के अधिग्रहण के लिए कोष जुटाने में करने वाले थे।     

केजरीवाल की मोदी सरकार से मांग- कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा सुनिश्चित हो

मस्क ने 14 अप्रैल को ट्विटर को 54.20 डॉलर प्रति शेयर की कीमत पर खरीदने की पेशकश की थी। हालांकि, शुक्रवार को मस्क ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने ट्विटर के अधिग्रहण की योजना अस्थाई रूप से टाल दी है, क्योंकि वह साइट पर मौजूद फर्जी अकाउंट की संख्या आंकने की कोशिशों में जुटे हैं। 

जाति जनगणना पर काम शुरू होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा : नीतीश

 

comments

.
.
.
.
.