Tuesday, Oct 19, 2021
-->
narada case deteriorated health of tmc leaders arrested, hospitalized pragnt

नारदा केस: गिरफ्तार हुए TMC नेताओं की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में भर्ती

  • Updated on 5/18/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नारद स्टिंग टेप मामले में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए तृणमूल कांग्रेस के नेताओं की अचानक तबीयत खराब हो गई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पहले खबर आई कि जेल में बंद टीएमसी के नेता सुब्रत मुखर्जी की तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया।

नारद स्टिंग केसः TMC को हाई कोर्ट का झटका, विधायकों की जमानत पर लगाई रोक

मदन मित्रा और सोवन चटर्जी की भी बिगड़ी तबीयत
बाद में तृणमूल कांग्रेस के विधायक मदन मित्रा और पूर्व मंत्री सोवन चटर्जी को सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत पर एसएसकेएम अस्पताल के वुडबर्न ब्लॉक में सुबह करीब 3 बजे भर्ती कराया गया। बता दें कि सीबीआई ने कल सुब्रत मुखर्जी और 3 अन्य नेताओं को नारदा मामले में गिरफ्तार किया था।

कोरोना: Aiims और ICMR ने प्लाज्मा थेरेपी को इलाज से किया बाहर, जारी की नई गाइडलाइन

गिरफ्तार किए गए बंगाल के मंत्रियों- नेताओं को लाया गया जेल
इससे पहले नारद केस में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए तृणमूल कांग्रेस के मंत्रियों और एक विधायक तथा एक पूर्व नेता को सोमवार देर रात कोलकाता में प्रेसीडेंसी करेक्शनल होम ले जाया गया। केंद्रीय जांच एजेंसी से जुड़े सूत्रों ने इस बारे में बताया कि मंत्री सुब्रत मुखर्जी और फरहाद हकीम, तृणमूल कांग्रेस के विधायक मदन मित्रा और पूर्व नेता शोभन चटर्जी को चिकित्सकीय जांच के बाद निजाम पैलेस स्थित सीबीआई के दफ्तर से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जेल ले जाया गया। बता दें कि इन चारों नेताओं को सोमवार सुबह गिरफ्तार किया गया था।

IMA के पूर्व प्रसिडेंट डॉ. केके अग्रवाल का कोरोना से निधन, पद्मश्री से थे सम्मानित

कलकत्ता हाई कोर्ट ने जमानत पर लगाई रोक
नारद स्टिंग टेप मामले में गिरफ्तार नेताओं के खिलाफ सीबीआई ने आरोपपत्र भी दाखिल किया है। सीबीआई की विशेष अदालत ने इस मामले में तृणमूल के नेताओं को जमानत दे दी थी लेकिन कलकत्ता उच्च न्यायालय ने विशेष अदालत के इस आदेश के अमल पर रोक लगा दी।

कोर्ट ने कहा ये
उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने इस मामले में सुनवाई के दौरान कहा कि विशेष अदालत के आदेश पर रोक लगाना ही सही होगा। न्यायालय ने अगले आदेश तक सभी अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेजने का भी आदेश दिया। नारद टीवी न्यूज चैनल के मैथ्यू सैमुअल ने 2014 में कथित स्टिंग ऑपरेशन किया था जिसमें तृणमूल कांगेस के मंत्री, सांसद और विधायक लाभ के बदले में एक कंपनी के प्रतिनिधियों से कथित तौर पर धन लेते नजर आए।

comments

.
.
.
.
.