Monday, Dec 06, 2021
-->
narendra-modi-ayushman-bharat-scheme-implementation-will-examine-by-parliamentary-committee

'आयुष्मान भारत' के क्रियान्वयन की जांच करेगी संसदीय समिति, कई होंगे तलब

  • Updated on 10/8/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की स्वास्थ्य देखभाल योजना के क्रियान्वयन की एक संसदीय समिति जांच करेगी और वह, इस कार्यक्रम पर समिति के सदस्यों को जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रमुख अधिकारियों को भी तलब कर सकती है।

कांग्रेस ने किया साफ- राफेल डील होगा विधानसभा-लोकसभा चुनाव में प्रमुख मुद्दा

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) के 2 व्यापक लक्ष्य हैं- देशभर में स्वास्थ्य एवं देखभाल आधारभूत संरचना का एक नेटवर्क बनाना और प्रति परिवार 5 लाख रुपये का सालाना बीमा कवर मुहैया कराना, जिससे 10.74 करोड़ परिवारों को फायदा होगा।  

राफेल सौदे के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची AAP, पूनावाला ने भी लगाई याचिका

समाजवादी पार्टी के नेता राम गोपाल यादव की अध्यक्षता वाली स्वास्थ्य मामलों पर स्थायी संसदीय समिति ने योजना के क्रियान्वयन के निरीक्षण का फैसला किया है। इसके अलावा, यह समिति एम्स और उस जैसे दूसरे संस्थानों के कामकाज के तरीके और कैंसर व डुशेन मस्कुलर डिस्ट्रॉफी (डीएमडी) के इलाज की वहनीयता को भी देखेगी। 

चुनावों के मद्देनजर Facebook ने कसी कमर, नफरत भरे भाषणों पर गिरेगी गाज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 सितंबर को झारखंड से आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा था कि योजना के लागू होने के बाद से 50 हजार से अधिक गरीब लोग योजना का फायदा उठा चुके हैं। इस योजना को दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम बताया जा रहा है।

केजरीवाल बोले- भाजपा को हराना है तो कांग्रेस को वोट ना दे दिल्ली की जनता

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.