narendra-modi-kedarnath-dham-visit-social-media-reactions

केदारनाथ में PM मोदी की फोटो देख पूछ रहे लोग,‘बिन कैमरा नहीं रह सकते’

  • Updated on 5/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा चुनाव 2019 (loksabha election 2019) के लिए सभी राजनीतिक पार्टियां अपना-अपना प्रचार अभियान खत्म कर चुकी हैं। अब पीएम नरेंद्र मोदी (narendra modi) शांति और साधना के मोड में नजर आ रहे हैं।

केदारनाथ की पूजा के बाद पवित्र गुफा में ध्यान करने पहुंचे PM मोदी

चुनाव प्रचार खत्म होने के अगले ही दिन पीएम मोदी (pm modi)  पूजा प्रार्थना के लिए केदारनाथ धाम (kedarnath dham) पहुंच गए हैं। इस दौरान पीएम मोदी का अलग-अलग कैमरा एंगल के साथ तस्वीर भी सामने आ रही हैं, जो सोशल मीडिया (social media) पर  वायरल हो रही हैं। पीएम मोदी के वायरल तस्वीर के बाद यूजर्स ने भी अपना प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया हैं। 

कमल हासन का विवादित बयान, कहा- भारत में हिंदू शब्द का जन्म नहीं हुआ

एक ट्विटर यूजर ने लिखा है, “मैं उसके बिना रह सकता हूं. लेकिन नरेंद्र मोदी एक घंटा भी कैमरे के बिना नहीं रह सकते...”

 

“मोदी को कोई भी रोक नहीं सकता है. उनको पता है कि एक भी शब्द कहे बगैर कैंपन कैसे करना है.”

 

“नरेंद्र मोदी अपने कैमरामैन के साथ साधना कर रहे हैं. 2019 लोकसभा चुनाव के बाद अपने नए जीवन के लिए कमर कस रहे हैं.”

 

“जब सभी राजनीतिक दलों ने लोकसभा चुनाव के आखिरी समय में प्रचार करना बंद कर दिया है, मोदी अभी भी सरकारी खर्चे पर अपने तरीके से प्रचार कर रहे हैं. लेकिन अफसोस, विपक्षी उनके खिलाफ ईसीआई में शिकायत दर्ज नहीं कर सकते हैं!!”

 

“भगवान के नाम पर ये क्या है? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पहले एक टोपी पहनकर केदारनाथ मंदिर में लाल कालीन पर चलते हैं. फिर वह एक गुफा में चुपचाप कैमरे के साथ बैठ जाते हैं. मित्रों, ये नकली है.”

 

“मेडिटेशन अच्छा है.... पोज और भी बेहतर है... मोदी जी 1988 का डिजिटल कैमरा केदारनाथ लेकर गए हैं. जहां मंदिर परिसर में कई नोटिस बोर्ड पर लिखा होता है कि "फोन/कैमरा जैसी चीजों की अनुमति नहीं है.”

 

“क्या ANI मोदी को फॉलो कर रहा है या मोदी ANI को फॉलो कर रहे हैं.”

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.