Saturday, Jun 06, 2020

Live Updates: Unlock- Day 6

Last Updated: Sat Jun 06 2020 10:02 AM

corona virus

Total Cases

236,781

Recovered

113,233

Deaths

6,649

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA80,229
  • TAMIL NADU28,694
  • NEW DELHI26,334
  • GUJARAT19,119
  • RAJASTHAN10,084
  • UTTAR PRADESH9,733
  • MADHYA PRADESH8,996
  • WEST BENGAL7,303
  • KARNATAKA4,835
  • BIHAR4,598
  • ANDHRA PRADESH4,112
  • HARYANA3,281
  • TELANGANA3,147
  • JAMMU & KASHMIR3,142
  • ODISHA2,608
  • PUNJAB2,415
  • ASSAM2,116
  • KERALA1,589
  • UTTARAKHAND1,153
  • JHARKHAND889
  • CHHATTISGARH773
  • TRIPURA646
  • HIMACHAL PRADESH383
  • CHANDIGARH304
  • GOA166
  • MANIPUR124
  • NAGALAND94
  • PUDUCHERRY90
  • ARUNACHAL PRADESH42
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA33
  • MIZORAM22
  • DADRA AND NAGAR HAVELI14
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM2
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
narendra modi video conferencing state govt ask tough questions corona virus lock down rkdsnt

PM मोदी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में राज्यों ने Corona पर पूछे कड़े सवाल, मांगी बकाया राशि

  • Updated on 4/2/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना संक्रमण से जूझ रही राज्य सरकारों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान ना सिर्फ कड़े सवाल पूछे, बल्कि केंद्र से अपनी बकाया राशि की मांगा की। इसके साथ ही यह सवाल भी पूछा गया है कि क्या 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन बढ़ाया जा सकता है। प्रधानमंत्री मोदी से राज्यों ने मेडिकल किट, बकाया राशि के साथ आर्थिक सहायता पैकेज की भी मांग की। 

मौलाना साद के समर्थन में उतरे AAP विधायक ने नकवी, आरिफ खां को बताया 'दलाल'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तो पीएम मोदी से अपने प्रदेश के लिए 2500 करोड़ की सहायता की की। इसके अलावा 50 हजार करोड़ रुपये का पुराना बकाया भी देने की गुजारिश की गई। इसी तरह पंजाब ने 60 हजार करोड़ रुयपे का पुराना बकाया देने की अपील की। पंजाब ने नई फसल के लिए मोदी  सरकार से 2 लाख मीट्रिक टन गेहूं रखने की व्यवस्था करने की मांग की है।

कोरोना कहर के असर से बढ़ी बेरोजगारी, मूडीज ने घटा दी भारत की रेटिंग

इसके साथ ही अन्य राज्यों ने भी अपने प्रदेशों के लिए मदद और आर्थिक पैकेज की मांग की है। राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने पीएम मोदी से कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए पर्सनल प्रोटेक्शन इक्वीपमेंट (PPE) की आपूर्ति तेज करने की मांग की है। इसके साथ ही लॉक डाउन की वजह से राज्यों को आ रही दिक्कतों के बारे में भी केंद्र को अवगत कराया गया। राज्यों की परेशानी यह है कि उनके राजस्व कलेक्शन में लगातार कमी आ रही है और इसके लिए केंद्र को मदद के लिए आर्थिक मदद करनी होगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस दौरान अपने परेशानियों को साझा किया।

Corona Lockdown : सुशांत सिंह, जिग्नेश मेवानी और प्रशांत भूषण के निशाने पर 'गुजरात मॉडल'

उधर, पीएम मोदी ने राज्यों की मदद का भरोसा दिया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को राज्यों में लागू करने की गुजारिश की। पीएम ने कहा कि राज्य सरकारें चाहें तो मजदूरों का पलायन को रोका जा सकता है। इसके लिए सभी को मिलकर गरीबों को उनके खाते में रकम और घरों में राशन पहुंचाना होगा। इसके साथ राज्य सरकारों ने केंद्र की मोदी से लॉक डाउन को बढ़ाए जाने पर भी सवाल पूछे। जिस पर पीएम मोदी कुछ भी कहने से बचते नजर आए। 

कोरोना संक्रमण: आर्सेलर मित्तल कंपनी के मालिक लक्ष्मी मित्तल ने भी किया करोड़ों का दान

 

 

यहां पढ़ें कोरोना के जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

क्या है कोरोना वायरस? जानें, बीमारी के कारण, लक्षण व समाधान

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास 

coronavirus: 5 दिन में दिखे ये लक्षण तो जरूर कराएं जांच 

यदि आपका है यह Blood Group तो जल्द हो सकते हैं कोरोना वायरस के शिकार 

कोरोना वायरस: जिम बंद हुए हैं एक्सरसाइज नहीं, 'वर्क फ्रॉम होम' की जगह करें 'वर्कआऊट फ्रॉम होम' 

Coronavirus को रखना है दूर तो डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें 

कोरोना वायरस : मास्क के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानियां, ऐसे करें यूज 

कोरोना वायरस से जुड़े ये हैं कुछ खास मिथक और उनके जवाब 

मिल गया Coronavirus का इलाज! जल्द ठीक हो सकेंगे सभी संक्रमित 

लॉक डाऊन है तो फिक्र क्या, बैंक कराएंगे आपके पैसे की होम डिलीवरी

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.