Saturday, Mar 23, 2019

नरेश गोयल ने जेट एयरवेज को बचाए रखने के लिए एतिहाद से मांगी मदद

  • Updated on 3/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने अपने सहयोगी एतिहाद से 750 करोड़ रुपये की आकस्मिक सहायता मांगी है। इसके लिए उन्होंने एतिहाद को एक पत्र लिखकर कहा है कि यदि मदद नहीं की गई तो जेट एयरवेज बंद हो जाएगी। उन्होंने कंपनी के बहुत भारी नकदी संकट का सामना करने का उदाहरण देते हुए कहा कि कंपनी की हालत ‘बहुत अनिश्चित’ है। उल्लेखनीय है कि पट्टे पर लिए विमानों का किराया नहीं चुकाए जाने से कंपनी को अपने 50 से ज्यादा विमानों को खड़ा करना पड़ा है।

माल्या की कंपनी के पास पड़े 1,025 करोड़ रुपये के शेयर UBL को ट्रांसफर

 एतिहाद समूह के मुख्य कार्यकारी टॉनी डगलस को लिखे पत्र में गोयल ने कहा कि अंतरिम तौर पर कोष जुटाने के लिए उसने जेट प्रिवलेज में अपने शेयरों को गिरवी रखने के लिए विमानन मंत्रालय से मंजूरी भी ले ली है। इस लॉयल्टी कार्यक्रम में जेट की हिस्सेदारी 49.9 प्रतिशत है जबकि बहुलांश हिस्सेदारी एतिहाद की है। 


एतिहाद के पास जेट में अप्रैल 2014 से 24 प्रतिशत हिस्सेदारी है। कंपनी अबू धाबी में सोमवार को अपने निदेशक मंडल की बैठक के दौरान जेट के समाधान पर विचार विमर्श करेगी। गोयल ने आठ मार्च को लिखे पत्र में कहा, ‘‘ अगले हफ्ते की शुरुआत में तत्काल 750 करोड़ रुपये की पूंजी निवेश से इस एयरलाइन को बचाने के लिए मैं आपके समर्थन की उम्मीद करता हूं।’’

बिशन सिंह बेदी बोले- धोनी हैं टीम इंडिया के आधे कप्तान, कोहली दिखते हैं.....

इससे पहले 14 फरवरी को जेट एयरवेज के निदेशक मंडल ने कंपनी पर कर्ज का पुनर्गठन करने की योजना को हरी झंडी दे दी थी। इसके बाद कंपनी को कर्ज देने वाले बैंक सबसे बड़े हिस्सेदार बन जाएंगे क्योंकि कंपनी को दिए गए कर्ज को एक रुपये के न्यूनतम मूल्य पर शेयर में परिर्वितत कर दिया जाएगा। 

शेयरधारकों ने भी इस पुनर्गठन योजना को 21 फरवरी को मंजूर कर दिया। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि यह अंतरिम मदद नहीं की गई तो यह एयरलाइन के भविष्य के लिए बेहतर नहीं होगा और कंपनी बंद हो जाएगी।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.