Friday, Jun 18, 2021
-->
national security advisors meeting of brics countries today sohsnt

BRICS देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक आज, भारत और चीन भी होंगे शामिल

  • Updated on 9/17/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्वी लद्दाख (Eastern ladakh) में सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन के बीच विवाद लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल  (Ajit Doval) और चीन के स्टेट काउंसलर 'यांग जिएची' गुरुवार यानी आज ब्राजील-रूस-भारत-दक्षिण अफ्रीका की वर्चुअल बैठक में शामिल होंगे। ब्रिक्स देशों के बीच होने जा रही इस बैठक की अध्यक्षता वर्तमान में रुस करने जा रहा है। 

PAKISTAN में हुआ गैंगरेप लेकिन बॉलीवुड पर भड़के पाक पीएम इमरान खान...

द्विपक्षीय बातचीत की कोई संभावना नहीं
मालूम हो कि इससे पहले भी रूस की ओर से आयोजित बहुपक्षीय बैठकों में भारत और चीन के शीर्ष नेताओं के बीच बैठक हो चुकीं है। ये इस महीने की चौथी बैठक होगी। मामले से संबंधित सूत्र ने बताया कि, 'राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच एजेंडा पर चर्चा की जाएगी और बयान जारी किया जाएगा, जिसके बारे में पहले ही निर्णय लिया जा चुका है। ब्रिक्स के अलावा द्विपक्षीय बातचीत की कोई संभावना नहीं है।'

चीन लाउडस्पीकर पर बजा रहा है पंजाबी गाने, भारतीय सेना को फंसाने की नई चाल

10वीं ब्रिक्स राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक
दरअसल, रूस की अध्यक्षता में ये 10वीं ब्रिक्स राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक आयोजित की जाएगी। बैठक को लेकर रूस की ओर से जारी बयान के मुताबिक, 'बैठक में राष्ट्रीय राष्ट्रीय सुरक्षा की चुनौतियों' पर चर्चा की जाएगी। हालांकि भारत और चीन की ओर से सीमा विवाद को लेकर पहले ही कई मौकों पर साफ कर दिया गया है कि  वे किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता नहीं चाहते है। वहीं रूस का इस मुद्दे पर कहना है कि दोनों देश आपस में बैठक के जरिए मतभेदों का समाधान निकाल सकते हैं।

जापान: प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने दिया इस्तीफा, योशिहिदे सुगा होंगे अगले PM

आज शाम 6 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए होगी बैठक
ब्रिक्स की ये बैठक आज शाम 6 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शुरू होगी। मिली जानकारी के मुताबिक, बैठक में आतंकवाद, साइबर सुरक्षा जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा होगी। ब्रिक्स की इस बैठक को लेकर रूस का कहना है कि आज के समय में दुनिया में वैश्विक, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय सुरक्षा के समक्ष चुनौतियां और खतरे बढ़ गए हैं। ऐसे में रूस ने कहा है कि आज की दुनिया में वैश्विक, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय सुरक्षा के समक्ष चुनौतियां और खतरे बैठक के विषय हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.