Friday, Dec 06, 2019
navjot-singh-sidhu-attacks-narendra-modi-government-on-revival-of-jallianwala-bagh

जलियांवाला बाग के पुनरुद्धार को लेकर सिद्धू ने मोदी सरकार पर बोला हमला

  • Updated on 4/10/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू Navjot Singh Sidhu ने ब्रिटिश शासन के दौरान जलियांवाला बाग Jallianwala Bagh में 13 अप्रैल को हुए नरसंहार के शताब्दी वर्ष के पहले इसके पुनरूद्धार के लिए जरूरी धनराशि जारी करने में ‘‘विफलता’’ के लिए बुधवार को भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार पर हमला बोला। पंजाब के पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से आग्रह किया कि वह केंद्र और ब्रिटिश सरकार को पत्र लिखकर जलियांवाला बाग नरसंहार के लिए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री को माफी मांगने को कहें। 

रायबरेली से सोनिया गांधी, अमेठी से स्मृति ईरानी भरेंगी नामांकन

स्वरा भास्कर ने कन्हैया कुमार की नामांकन रैली में BJP-RSS पर बोला हमला

इस बीच, लंदन से प्राप्त जानकारी के अनुसार जलियांवाला बाग Jallianwala Bagh नरसंहार की 100 वीं बरसी से पहले ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने अमृतसर में हुई उस घटना को बुधवार को ब्रिटिश भारतीय इतिहास पर ‘शर्मनाक धब्बा’ बताया। हालांकि, उन्होंने औपचारिक माफी नहीं मांगी है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में सिद्धू ने कहा, '13 अप्रैल 2019 को हम जलियांवाला बाग नरसंहार के शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे और इसकी 100 वीं बरसी मनायेंगे । भारत सरकार की संस्थागत अनदेखी और अक्षम्य चुप्पी मेरे मन को परेशान करती है।'

शीला-पटेल की मुलाकात के बाद AAP ने गठबंधन पर रुख किया साफ

उन्होंने कहा, 'जलियांवाला बाग राष्ट्रीय एकता का प्रतीक है और भारत के विचार को प्रेरित करता है।' सिद्धू Navjot Singh Sidhu ने कहा, 'यह प्रतिकार का समय है और 13 अप्रैल, 1919 की कार्रवाई के लिए ब्रिटिश सरकार ने कभी माफी नहीं मांगी। 100 साल का समय यद्यपि बहुत अधिक हो चुका है लेकिन फिर भी माफी मांगने का मौका है।'

राफेल मामले में राहुल गांधी के बयान से नाराज सीतारमण ने किया पलटवार

मंत्री ने कहा, 'मैं आपसे (कैप्टन अमरिंदर सिंह) आग्रह करता हूं कि भारत और ब्रिटिश सरकार को पत्र लिख कर इस अत्याचार के लिए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री से माफी मांगने को कहें।' गौरतलब है कि जलियांवाला बाग Jallianwala Bagh में 13 अप्रैल 1919 को लोग शांतिपूर्ण प्रदर्शन के लिए एकत्र हुए थे। इसी दौरान कर्नल आर डायर के नेतृत्व में ब्रिटिश सैनिकों ने इन लोगों पर गोली चला दी जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे। जलियांवाला बाग के पुनरूद्धार परियोजना के लिए राज्य सरकार की ओर से मांगी गयी धन राशि जारी नहीं किये जाने पर मंत्री ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला।

अल्पेश ठाकोर ने लोकसभा चुनाव से पहले गुजरात कांग्रेस को दिया बड़ा झटका

उन्होंने कहा, 'हमारे बार-बार के प्रयासों के बाद भी मोदी सरकार गहरी नींद से नहीं जागी है और इस स्थान को उसका उचित महत्व नहीं दिया है। जलियांवाला बाग Jallianwala Bagh को पुनर्जीवित करने के लिए एक विस्तृत परियोजना तैयार करने के बावजूद, इसके लिए 100 करोड़ रुपये की मांग को लेकर प्रधानमंत्री को लिखी गई मेरी चिट्ठी की अनदेखी की गयी है जबकि आपने भी (अमरिंदर सिंह) मेरी इस चिठ्ठी का अपने पत्र के साथ समर्थन किया था।'

फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' के बाद चुनाव आयोग ने NaMo TV पर भी गिराई गाज

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.