Tuesday, Jul 23, 2019

नवजोत सिद्धू ने एक महीने बाद भी नहीं संभाला नए मंत्रालय का प्रभार 

  • Updated on 7/3/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पंजाब कैबिनेट में फेरबदल में महत्वपूर्ण विभाग छिनने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने लगभग एक महीने बाद भी अपने नए मंत्रालय का कार्यभार नहीं संभाला है। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ उनका गतिरोध लगातार जारी है। मुख्यमंत्री ने गत छह जून को सिद्धू से स्थानीय प्रशासन और पर्यटन तथा संस्कृति विभागों का प्रभार छीन लिया था और उन्हें बिजली तथा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय का कार्यभार सौंपा था।

केजरीवाल सरकार ने अब तीर्थयात्रा योजना को पहनाया अमलीजामा

कैबिनेट में फेरबदल के दो दिन बाद आठ जून को सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में तेजी के लिए मुख्यमंत्री द्वारा गठित मंत्रणा समूहों से भी सिद्धू बाहर हो गए थे। मुख्यमंत्री और सिद्धू के बीच गतिरोध को दूर करने का जिम्मा वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल को सौंपा गया था। अमरिंदर सिंह ने पिछले महीने अपने दिल्ली दौरे के दौरान पटेल से मुलाकात की थी, लेकिन पार्टी ने इस बैठक को कथित तौर पर ‘‘शिष्टाचार बैठक’’ करार दिया था। 

न्यायमूर्ति कुरैशी के नाम को मंजूरी में देरी के खिलाफ SC में याचिका दायर

कैबिनेट में फेरबदल के बाद से सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर मीडिया से दूरी बना हुए हैं। सिद्धू के करीबी सहयोगी ने बुधवार को कहा कि मंत्री तथा उनकी पत्नी फिलहाल अमृतसर में हैं और लोगों से संपर्क कर रहे हैं। अब तक नए मंत्रालय का कार्यभार न संभालने वाले सिद्धू ने पिछले महीने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी और उन्हें एक पत्र सौंपने के साथ ही ‘‘स्थिति की जानकारी’’ दी थी।

#BJP की अनुशासन समिति को नहीं मिला आकाश विजयवर्गीय का मामला

सिद्धू ने 10 जून को राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल के साथ ट्विटर और फेसबुक पर एक तस्वीर भी साझा की थी। उन्होंने इसके बाद ट्विटर और फेसबुक पर कुछ भी साझा नहीं किया है।

TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने खारिज किए साहित्यिक चोरी के आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.