Thursday, Jun 24, 2021
-->
navratri 2020 worship maa siddhidatri on mahanavami mantra and importance prshnt

Navratri 2020: महानवमी के दिन करें मां सिद्धिदात्री की पूजा, ये है मंत्र और महत्व

  • Updated on 10/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शारदीय नवरात्रि में महानवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की विधि विधान से पूजा अर्चना की जाती है। इस बार इस साल महानवमी का प्रारंभ 24 अक्टूबर को सुबह 06 बजकर 58 से हो रहा है, जो अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 07 बजकर 41 मिनट तक है। ऐसे में महानवमी का व्रत 24 अक्टूबर को रखा जाएगा।

मां सिद्धिदात्री शोक, रोग एवं भय से मुक्ति देती हैं। सिद्धियों की प्राप्ति के लिए मनुष्य ही नहीं, देव, गंदर्भ, असुर, ऋषि सभी इनकी पूजा करते हैं। भगवान शिव भी इनके आराधक हैं।

ऐसे हुआ मां सिद्धिदात्री का नामकरण
मान्यता है कि ब्रह्माण्ड के प्रारंभ में भगवान रूद्र ने देवी आदि पराशक्ति की आराधना की थी, जिसमें देवी आदि पराशक्ति का कोई स्वरूप नहीं था। शक्ति की सर्वशक्तिमान देवी आदि पराशक्ति सिद्धिदात्री स्वरूप में भगवान शिव के शरीर के बाएं भाग पर प्रकट हुईं। माना जाता है कि मां सिद्धिदात्री की पूजा विधी-विधान से करने पर भक्त्तों का कल्याण होता है।

पूजा विधि
महानवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है और कन्या पूजन किया जाता है। इस दिन माता को तिल का भोग लगाना शुभ माना जाता है, ऐसा करने से आपके साथ कोई अनहोनी नहीं होगी। माता सिद्धिदात्री आपकी हमेशा रक्षा करेंगी। कई जगहों पर अष्ठमी तो कई जगह महानमी के दिन कन्या पूजन होता है। आपने दुर्गाष्टमी के दिन कन्या पूजन नहीं किया है तो विधिपूर्वक कन्या पूजन करें और कुंवारी कन्याओं से आशीर्वाद प्राप्त करें।

इस मंत्र का करें जाप
ओम देवी सिद्धिदात्र्यै नमः॥
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.