Wednesday, Oct 16, 2019
navy-strength-will-increase-will-include-scorpene-class-submarine-ins-khanderi

बढ़ेगी नौसेना की ताकत, शामिल होगी स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी 'खंडेरी'

  • Updated on 9/18/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत की स्कॉर्पीन श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी आईएनएस खंडेरी को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rjnath singh) मुम्बई में 28 सितम्बर को नौसेना (Indian navy) में शामिल करेंगे। यह पनडुब्बी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि इस मौके पर पी17ए श्रेणी के पहले जलपोत आईएनएस नीलगिरी का जलावतरण और एक विमानवाहक ड्राईडॉक का भी उद्घाटन होगा। ‘खंडेरी’ को सक्रिय सेवा में शामिल करने और ‘नीलगिरी’ के जलावतरण के साथ नौसेना की युद्धक क्षमता कई गुना बढ़ जाएगी। 

हिंद महासागर में दिखा चीनी युद्धपोत, हर हरकत पर है #IndianNavy की नजर

  • इस मौके पर पी17ए श्रेणी के पहले जलपोत आईएनएस नीलगिरी का जलावतरण और एक विमानवाहक ड्राईडॉक का भी उद्घाटन होगा।
  • ‘खंडेरी’ को शामिल करने और ‘नीलगिरी’ के जलावतरण के साथ नौसेना की युद्धक क्षमता कई गुना बढ़ जाएगी। 
  • विमान वाहक ड्राईडॉक भारत के सबसे बड़े जहाज आईएनएस विक्रमादित्य को बंदरगाह की गोदी तक ला सकता है। 
  • आईएनएस खंडेरी स्कॉर्पीन श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी है जो तारपीडो के साथ हमला कर सकती है
  • ट्यूब से लॉन्च होने वाली एंटी-शिप मिसाइल से भी मार कर सकती है। 
  • स्कॉर्पीन श्रेणी की पहली पनडुब्बी आईएनएस कलवरी को दिसंबर 2017 में शामिल किया गया। 
  • भारत और विदेश के विभिन्न पोत-कारखानों में इस समय हमारे 51 जलपोत निर्माणाधीन, 49 भारत के पोत-कारखानों में बन रहे हैं।
  • फ्रांसीसी कंपनी नेवल ग्रुप ने 2005 में छह पनडुब्बी की आपूर्ति के लिए समझौता किया था।
  • फ्रांस कीकंपनी द्वारा डिजाइन पनडुब्बियों को भारतीय नौसेना के प्रोजेक्ट-75 के तहत मझगांव डॉक लिमिटेड बना रही है।
  • स्कॉर्पीन परियोजना की कुल लागत इस समय करीब 25,000 करोड़ रुपए है, पी-17ए के तहत सात युद्धपोत की लागत 48,000 करोड़ रुपए।
     
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.