Wednesday, Jun 16, 2021
-->
ncb-filed-charge-sheet-in-sushant-rajput-case-33-accused-including-rhea-chakraborty-rkdsnt

सुशांत राजपूत मामले में NCB ने दायर किया आरोपपत्र, रिया समेत 33 को बनाया आरोपी

  • Updated on 3/5/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े मादक पदार्थ के मामले में शुक्रवार को यहां एक विशेष अदालत में दाखिल आरोपपत्र में रिया चक्रवर्ती समेत 33 लोगों को आरोपी बनाया है। आरोपपत्र में 160 गवाहों के बयान भी हैं। एनसीबी के सूत्रों ने बताया कि आरोपपत्र में सुशांत की लिव इन पार्टनर रही रिया को मादक पदार्थ गिरोह का हिस्सा बताया गया है। साथ ही, दावा किया गया है कि वह मादक पदार्थ खरीदने और इसकी आपूर्ति करने की साजिश का हिस्सा थी। 

अनिल देशमुख का दावा - मृत व्यक्ति हिरेन मनसुख वाहन का असली मालिक नहीं

रिया और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती के अलावा मामले में धर्माटिक इंटरटेनमेंट के पूर्व कार्यकारी निर्माता क्षीतिज प्रसाद, राजपूत के घरेलू सहायक दीपक सावंत, संदिग्ध तस्कर जैद विलात्रा और अब्देल बासित परिहार तथा सैमुअल मिरांडा का नाम आरोपियों के तौर पर शामिल किया गया है। कुल 33 आरोपियों में आठ न्यायिक हिरासत में हैं, जबकि रिया और शौविक समेत बाकी लोगों को जमानत मिल चुकी है। एनसीबी के सूत्रों के मुताबिक आरोपपत्र में दावा किया गया है कि नवंबर 2019 के अंतिम सप्ताह में रिया के आवास पर उनकी सहमति से मादक पदार्थ की आपूर्ति की गयी। 

सुब्रमण्यन स्वामी ने श्रीधरन की उम्र को लेकर उठाए सवाल, आडवाणी-जोशी को किया याद

एजेंसी ने आरोप लगाया कि रिया ने राजपूत को अपने घर पर मादक पदार्थ का सेवन करने की अनुमति दी और इसे खरीदने के लिए उन्हें रुपये भी दिए। इस तरह मादक पदार्थ की खरीद-बिक्री में उन्होंने मदद की। सूत्रों के मुताबिक आरोप पत्र में कहा गया कि रिया ने अपने भाई की मदद से मादक पदार्थ की आपू्र्ति में मदद की और अदाकारा के बयान से स्पष्ट हो गया कि वह मादक पदार्थ गिरोह की सक्रिय सदस्य थीं और उन्होंने गांजा, चरस की खरीद-बिक्री, आपू्र्ति की साजिश रची। 

सूत्रों के मुताबिक सह आरोपी मिरांडा ने एजेंसी को बताया कि नवंबर 2019 में उसने संदिग्ध तस्कर करमजीत सिंह आनंद को गांजा की दो पैकेट के लिए भुगतान किया था और इसे शौविक को मुहैया कराया गया। राजपूत के धन से कथित तौर पर इसका भुगतान किया गया था। मादक पदार्थों के इस्तेमाल की रोकथाम से संबंधित एनडीपीएस कानून के तहत गठित विशेष अदालत में दाखिल किये गए 11,700 से ज्यादा पृष्ठों के आरोपपत्र में जब्त किये गए मादक पदार्थ, जुटाए गए विभिन्न साक्ष्यों और अब तक हुई जांच के बारे में विस्तृत विवरण दिया गया है। 

TMC ने प. बंगाल प्रभारी चुनाव उपायुक्त सुदीप जैन पर उठाए सवाल, EC ने रुख किया साफ

जांच एजेंसी ने कहा है कि कई ज्ञात और अज्ञात लोगों के संबंध में जांच जारी है। पिछले साल जांच शुरू होने के बाद विभिन्न प्रकार की ड्रग्स, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और भारतीय तथा विदेशी मुद्रा जब्त की गयी। एनसीबी ने कहा कि उपकरणों और मोबाइल फोन का विश्लेषण किया गया तथा मादक पदार्थ की खरीद-बिक्री, सेवन के संबंध में कई सबूत मिले हैं। छानबीन के दौरान जब्त किये गए मादक पदार्थ को रसायनिक जांच के लिए भेजा गया। 

अखिलेश का भाजपा पर निशाना, बोले- अहंकार ने दिल्ली के शासकों को ‘अंधा-बहरा’ बनाया

अधिकारियों ने बताया कि आरोपी ‘व्हाट्सएप’ के अलावा टेलीग्राम जैसे ऐप के जरिए भी बातचीत करते थे।      राजपूत (34) का शव पिछले साल 14 जून को बांद्रा स्थित उनके फ्लैट से बरामद हुआ था। इसके बाद बॉलीवुड में मादक पदार्थ के कथित इस्तेमाल को लेकर जांच शुरू की गयी गयी थी। केन्द्रीय एजेंसी ने ‘व्हाट्सएप’ पर हुई कुछ बातचीत में मादक पदार्थ का जिक्र किए जाने के आधार पर मामले में जांच शुरू की थी। जांच के दौरान अदाकारा दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान के बयान भी दर्ज किए गए।      

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.