Thursday, Jan 20, 2022
-->
ncp demands jpc over alleged whatsapp chat between arnab goswami dasgupta rkdsnt

अर्णब गोस्वामी, दासगुप्त के बीच हुई कथित व्हाट्सऐप चैट पर NCP ने की JPC की मांग

  • Updated on 1/18/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शरद पवार (Sharad Pawar) नीत राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को सरकार से ‘रिपब्लिक टीवी’ के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी और टेलीविजन रेटिंग एजेंसी बीएआरसी के पूर्व सीईओ पार्थ दासगुप्ता के बीच हुई कथित बातचीत की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति (JPC) का गठन करने की मांग की। राकांपा के प्रमुख प्रवक्ता महेश तपासे मीडिया में वायरल उस कथित बातचीत का जिक्र कर रहे थे, जिसके अनुसार गोस्वामी को बालाकोट हवाई हमले के बारे में कई गुप्त जानकारियों का पता था। 

CIC ने CBI से पूछा- माल्या के खिलाफ किन नियमों के तहत जारी किया लुक आउट सर्कुलर 

उन्होंने कहा, ‘‘ यह बेहद स्तब्ध व परेशान करने वाला है कि कैसे राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दे का इस्तेमाल टीआरपी पाने के लिए किया गया।’’ तपासे ने कहा कि वह इस संबंध में बातचीत करने के लिए महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मंगलवार को मुलाकात करेंगे और ‘चैटगेट’ पर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी स्पष्टीकरण मांगेंगे। 

नसीरूद्दीन शाह ने धर्म के आधार पर विभाजन पैदा करने वालों को लिया आड़े हाथ

उन्होंने कहा, ‘‘ सवाल यह भी उठता है कि अर्णब को कैसे इतनी संवेदनशील जानकारियां पता थी। गृह मंत्रालय को तुरंत इस सूत्र का पता करना चाहिए और तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए।’’ तपासे ने दावा किया कि गोस्वामी मुम्बई पुलिस और महा विकास अघाड़ी सरकार (MVA) की छवि खराब करने में सबसे आगे रहे हैं। 

पीएम मोदी सबसे पहले कोरोना वैक्सीन लगवाते तो मजबूत होता भरोसा : कांग्रेस

उन्होंने कहा, ‘‘ टीवी पर बहस के दौरान, उन्होंने पालघर घटना को साम्प्रदायिक रूप देने की कोशिश की। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में उन्होंने मुद्दे को विषय से भटकाया और गलत व्याख्यान पेश किया। यह सब कुछ केवल एमवीए सरकार को बदनाम करने के लिए किया गया।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा को अर्णब गोस्वामी पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। 

ट्रैक्टर परेड और NIA के नोटिस पर किसान संगठनों ने अपना रुख किया साफ

गौरतलब है कि ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बीएआरसी) के पूर्व सीईओ दासगुप्ता को मुम्बई पुलिस की अपराध शाखा ने गत वर्ष 24 दिसम्बर को कथित टीआरपी हेराफेरी मामले में गिरफ्तार किया था। रक्त शर्करा का स्तर स्तर बढऩे के बाद दासगुप्ता को शनिवार को सरकारी जे. जे. अस्पताल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मुम्बई पुलिस ने इससे पहले अदालत को बताया था कि ‘रिपब्लिक टीवी’ के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी ने समाचार चैनल के दर्शकों की संख्या बढ़ाने के लिए दासगुप्ता को ‘‘लाखों रुपये’’ की रिश्वत कथित तौर पर दी थी।

केजरीवाल सरकार ने किया साफ- किसी को टीका लगवाने के लिए नहीं कर सकते बाध्य

 

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.