Wednesday, Oct 05, 2022
-->
ncp moves supreme court requesting temporary release of malik and dekhmukh

नवाब मलिक, देखमुख की अस्थायी रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का किया रुख

  • Updated on 6/20/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने पार्टी नेताओं एवं विधायकों नवाब मलिक (Nawab Malik) और अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) को महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में मत डालने के लिए जेल से अस्थायी रिहाई का अनुरोध करते हुए सोमवार को उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) का रुख किया। महाराष्ट्र विधान परिषद की 10 सीट के लिए सुबह से मतदान जारी है।   

अग्निपथ योजना के बचाव में उतरे बाबा रामदेव और श्री श्री रविशंकर  

  न्यायमूर्ति सी. टी. रविकुमार और न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया की अवकाशकालीन पीठ ने जेल में बंद नेताओं की ओर से पेश हुईं वरिष्ठ अधिवक्ता मीनाक्षी अरोड़ा की इस दलील पर गौर किया कि याचिका पर सोमवार को ही सुनवाई होनी चाहिए क्योंकि मतदान आज ही हो रहा है। पीठ ने कहा कि ऐसे मामलों को तत्काल सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने से पहले इन्हें भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) के समक्ष भेजा जाता है।     

अग्निपथ के आवेदकों को प्रदर्शन, आगजनी में शामिल नहीं होने के संबंध में देना होगा शपथ पत्र 

पीठ ने कहा, ‘‘ अवकाश के दौरान सूचीबद्ध किए जाने वाले मामलों के संबंध में एक परिपत्र जारी किया गया है और मामले को प्रधान न्यायाधीश के समक्ष भेजना होगा।’’  बंबई उच्च न्यायालय ने 17 जून को महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक और पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख द्वारा विधान परिषद चुनाव में मतदान की अनुमति के अनुरोध वाली याचिकाओं को खारिज कर दिया था।  मलिक और देशमुख अलग-अलग मामलों में धन शोधन और भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद हैं।

CM मान ने पंजाब यूनिवर्सिटी को लेकर अमित शाह को लिखा पत्र, जताई आपत्ति

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.