Friday, Jan 28, 2022
-->
NCP Nawab Malik will again reveal about raid cruise ship of NCB Bollywood on targets rkdsnt

क्रूज पोत पर NCB की छापेमारी को लेकर NCP के नवाब मलिक फिर करेंगे खुलासे

  • Updated on 10/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (NCB) की क्रूज पर छापेमारी को फर्जी करार देने वाले NCP के सांसद नवाब मलिक शुक्रवार की बजाए शनिवार को फिर से कई खुलासे करने जा रहे हैं। इसकी जानकारी उन्होंने अपने ट्वीट में दी है। उन्होंने दावा किया है कि एनसीबी का कारगुजारियों का कच्चा चिट्ठा खोलने के लिए सबूत और दस्तावेज एकत्र कर रहा हूं। मलिक ने बुधवार को आरोप लगाया था कि मुंबई के तट के निकट एक क्रूज पोत पर 2 अक्टूबर को की गई एनसीबी की छापेमारी ‘‘फर्जी’’ थी और इस दौरान कोई मादक पदार्थ नहीं मिला था। पार्टी ने छापेमारी के दौरान एनसीबी के दल के साथ 2 लोगों की मौजूदगी पर भी सवाल उठाया और आरोप लगाया कि इनमें से एक व्यक्ति भाजपा का सदस्य था। 

क्रूज ड्रग्स मामले में सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए BJP के भानुशाली, NCP को दी चुनौती

गोवा जा रहे पोत से शनिवार को कथित रूप से नशीले पदार्थ बरामद करने के बाद एनसीबी आर्यन खान समेत 17 लोगों को गिरफ्तार कर चुका है। राकांपा के प्रवक्ता एवं महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने यहां दावा किया, ‘‘यह (छापेमारी) फर्जी नाटक था। उन्हें पोत पर कोई नशीला पदार्थ नहीं मिला।’’ उन्होंने कुछ वीडियो भी जारी किए, जिनके बारे में बताया जा रहा है कि ये वीडियो छापेमारी से संबंधित हैं। राकांपा नेता ने कहा कि एक वीडियो में आर्यन खान को ले जाता दिख रहा ‘गोसावी’ नाम का व्यक्ति एनसीबी का अधिकारी नहीं है और उसकी सोशल मीडिया प्रोफाइल के अनुसार वह कुआलालम्पुर में रहने वाला एक निजी जासूस है। मलिक ने आरोप लगाया कि इसके अलावा एक अन्य वीडियो में दो व्यक्ति इस मामले में गिरफ्तार अरबाज मर्चेंट को ले जाते दिख रहे हैं और इनमें से एक भाजपा का सदस्य है। 

सुप्रीम कोर्ट ने NEET के लिए EWS श्रेणी की आय-सीमा 8 लाख रु निर्धारित करने का आधार पूछा

उन्होंने कहा, ‘‘यदि ये दोनों एनसीबी के अधिकारी नहीं हैं, तो वे हाई-प्रोफाइल लोगों (आर्यन और मर्चेंट) को क्यों ले जा रहे थे।’’ मलिक ने दावा किया कि मर्चेंट के साथ देखा गया व्यक्ति 21 से 22 सितंबर को गुजरात में था और उसका संबंध मुंद्रा बंदरगाह से 3,000 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती के मामले से जोड़ा जा सकता है। उन्होंने भाजपा से इस व्यक्ति की पहचान उजागर करने को कहा। मलिक ने कहा, ‘‘भाजपा महाराष्ट्र सरकार और बॉलीवुड को बदनाम करने के लिए पूरे एनसीबी का इस्तेमाल कर रही है।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि एनसीबी उन लोगों को निशाना बना रहा है, जो भगवा दल के खिलाफ हैं। 

लखीमपुर हत्याकांड पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, आरोपी मिश्रा को लेकर हरकत में आई यूपी पुलिस

सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए मनीष भानुशाली
मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले में भाजपा नेता मनीष भानुशाली सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए हैं। बता दें कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने बुधवार को आरोप लगाया कि मुंबई के तट के निकट एक क्रूज पोत पर दो अक्टूबर को की गई स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) की छापेमारी ‘‘फर्जी’’ थी और इस दौरान कोई मादक पदार्थ नहीं मिला था। एनसीपी ने छापेमारी के दौरान एनसीबी टीम के साथ दो लोगों की मौजूदगी पर भी सवाल उठाया। पार्टी ने आरोप लगाया कि इनमें से एक व्यक्ति भाजपा का सदस्य था। भाजपा ने इसका जवाब देते हुए कहा कि यदि कोई सबूत नहीं होता, तो अदालत ने इस मामले में बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत मंजूर कर ली होती। एनसीबी ने भी इन आरोपों को निराधार बताया है। 

NCP का आरोप- क्रूज पोत पर छापेमारी ‘फर्जी’ थी कोई ड्रग्स नहीं मिला, NCB के रोल पर उठाए सवाल

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक के आरोपों का मनीष भानुशाली ने मीडिया में खंडन किया है। उन्होंने कहा कि क्रूज ड्रग्स मामले और उससे जुड़े शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी से भाजपा का कोई ताल्लुक नहीं हैं। नवाब मलिक के आरोपों को तत्थहीन बताते हुए उन्होंने का कि भाजपा में उन्हें कोई औपचारिक पद नहीं मिला हुआ है। उन्होंने कहा, 'नवाब मलिक ने मुझ पर झूठे आरोप लगाए हैं। भाजपा की इन गिरफ्तारियों से कोई लेना-देना नहीं है। मुझे 1 अक्टूबर को मेरे दोस्त से जानकारी मिली थी कि एक ड्रग्स पार्टी होनी है और इसकी जानकारी मैंने एनसीबी से शेयर की। क्योंकि मेरे पास इसकी जानकारी थी इसलिए मैं एनसीबी अधिकारियों के साथ शीप पर था।'

मंत्री अजय मिश्रा ने जेलों पर राष्ट्रीय सम्मेलन में लिया भाग, TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने कसा तंज

लेकिन, सोशल मीडिया पर मनीष भानुशाली ट्रोल हो गए हैं। उनके फोटो पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, प्राइवेट डिडेक्टिव के साथ देखे जा रहे हैं। खास बात है कि प्राइवेट डिडेक्टिव भी एनसीबी की टीम में शामिल था, जो शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज से ले जा रहा था। ऐसे में सिसायी गलियारों में एनसीबी और भाजपा के बीच सांठगांठ को लेकर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। हैरानी की बात यह है कि प्राइवेट डिडेक्टिव ने आर्यन खान के साथ सेल्फि भी ली। भाजपा ने इसका जवाब देते हुए कहा कि यदि कोई सबूत नहीं होता, तो अदालत ने इस मामले में बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत मंजूर कर ली होती। एनसीबी ने भी इन आरोपों को निराधार बताया है। 

comments

.
.
.
.
.