Wednesday, Sep 28, 2022
-->
ndmc-s-budget-was-profitable

मुनाफे वाला रहा एनडीएमसी का बजट

  • Updated on 1/7/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) ने शुक्रवार को अपना सालाना बजट पेश किया। एनडीएमसी ने कोरोना के बावजूद चालू वित्त वर्ष 2021-22 में 135.84 करोड़ रुपए और वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 178.95 करोड़ रुपए के मुनाफे के साथ एक सकारात्मक बजट पेश किया। एक नगर निकाय होने के नाते प्राप्तियों और व्यय में मामूली वृद्धि बजट में देखने को मिली। एनडीएमसी के चेयरमैन धर्मेंद्र ने बजट ऑनलाइन पेश किया। इस बैठक में सचिव ईशा खोसला, उपाध्यक्ष सतीश उपाध्याय, सदस्य विशाखा सैलानी, कुलदीप सिंह चहल, गिरीश सचदेवा, गृहमंत्रालय में संयुक्त सचिव आशुतोष अग्निहोत्री, आवासन एवं शहरी मामलों के मंत्रालय में संयुक्त सचिव डी. थारा, पूर्वी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त विकास आनंद, एनडीएमसी के वित्तीय सलाहकार पुष्कल उपाध्याय मौजूद रहे।
सिर्फ कोटाधारकों को मिलेगा वीकेंड कर्फ्यू का ई-पास तो कैसे बंटेगा राशन

कोविड के बावजूद हुआ एनडीएमसी को लाभ
एनडीएमसी के बजट में संशोधित अनुमान 2021-22 की तुलना में इसकी प्राप्तियों में 15 फीसदी की अनुमानित वृद्धि 4381.43 करोड़ रुपए और इसके व्यय में 14.2 फीसदी की वृद्धि के साथ 4202.48 करोड़ रुपए की वृद्धि लेकर एनडीएमसी का बजट वर्ष 2022-23 में भी कोविड स्थिति के बावजूद 178 करोड़ रुपए के शुद्ध मुनाफे के साथ आत्मनिर्भर है। यही नहीं पिछले दो वर्षों में कोई वार्षिक वृद्धि नहीं होने के बावजूद, लाइसेंस शुल्क का अनुमान 764 करोड़ के सर्वकालिक उच्च स्तर पर है, जो निरंतर विकास की रेखा बनाए हुए है। यह संशोधित अनुमान 2021-22 के आंकड़ों से 24.8 फीसदी अधिक है और वित्त वर्ष 2020-21 के वास्तविक आंकड़ों से 46 फीसदी से भी अधिक है। एनडीएमसी वर्ष 2022-23 के लिए संपत्ति कर की दरों में कोई वृद्धि का प्रस्ताव नहीं है, हालांकि कर-राजस्व 960 करोड़ रुपए के अब तक के उच्चतम स्तर पर रहने का अनुमान है। एनडीएमसी पे विद्युत आपूर्ति वितरण (डिस्कॉम) के प्रचालनों का एक अलग बजट प्रस्तुत किया जिसमें 33.27 करोड़ का शुद्ध मुनाफा दर्शाया गया है। 
ओखला मंडी में कोरोना से बचाव के लिए हुई समीक्षा बैठक

क्या रहा बजट में खास : 
-एनडीएमसी बच्चों के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर का मनोरंजन सहित थीम पार्क बनाने का प्रस्ताव
-शहीद भगत सिंह प्लेस में पालिका सुविधा केंद्र को नागरिक संपर्क के लिए एकल बिंदु के रूप में एक आधुनिक पालिका नागरिक लाउंज में अपग्रेड किया जाएगा। 
-कनॉट प्लेस और हनुमान मंदिर जैसे विरासती स्थलों के व्यापक रखरखाव और कवर क्षेत्रों की साफ-सफाई की योजना।
-एनडीएमसी पुस्तकालयों को विश्वस्तरीय पालिका ज्ञान केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा।
-एनडीएमसी, नगर निकाय संगठनों में पहली बार एक्यूलर/प्रोद्भवन आधारित बजट लागू करेगा।
-भविष्य में डीजल/पेट्रोल आधारित यात्री कारों की खरीद बंद करके सिर्फ इलेक्ट्रिक वाहन ही खरीदेगी।
-एनडीएमसी केवल अक्षय ऊर्जा का उपभोग करके ग्रीन पावर डिस्कॉम बनने की ओर अग्रसर है।
-न्यू मोती बाग से नॉर्थ और साउथ ब्लॉक तक एक समर्पित साइकिल ट्रैक का निर्माण होगा।
-स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में 5 स्टार रैंकिंग हासिल करने के बाद, एनडीएमसी 7 स्टार रैंकिंग का प्रयास भी करेगी।
कोरोना से बंद हुए चिडियाघर के दरवाजे


बढ़ेगी ई-चार्जिंग स्टेशनों की संख्या
प्रदूषण से मुक्ति के लिए पेट्रोल व डीजल आधारित यात्री कारों की खरीद को रोकने और भविष्य में केवल इलेक्ट्रिक कारों की ही खरीद का संकल्प एनडीएमसी ने लिया है। यही नहीं एनडीएमसी ने अपने क्षेत्र में साठ से अधिक ई-चार्जिंग स्टेशनों की शुरूआत की है और इस वर्ष में ही 100 से अधिक की वृद्धि कर रही है। ई-स्कूटर का एक बेड़ा इस साल स्मार्ट बाइक के पूरक के रूप में तैनात करने की योजना है। 

अक्षय ऊर्जा व सौर ऊर्जा प्रदाताओं के साथ नए समझौते
एनडीएमसी खुद को देश के 100 फीसदी नवीकरणीय ऊर्जा नगर निकाय के रूप में स्थानांतरित करने की महात्वाकांक्षी यात्रा शुरू करने जा रही है। जिसके तहत सबसे पहले थर्मल पावर जनरेटिंग स्टेशनों के साथ अपने बिजली खरीद समझौते की समाप्ति के बाद उन्हें नवीनीकरण नहीं किया जाएगा। एनडीएमसी पनबिजली और सौर ऊर्जा सहित केवल अक्षय ऊर्जा प्रदाताओं के साथ नए खरीद समझौते करने जा रही है।
बुक क्लब से चाइल्ड केयर संस्थानों के बच्चों में पढने की बनेगी आदत


50 बिस्तरों का बनेगा आयुष अस्पताल
एनडीएमसी आयुष मंत्रालय के सहयोग से एक अनुसंधान केंद्र के साथ 50 बिस्तरों वाला आयुष अस्पताल स्थापित करने के लिए, 30,000 वर्ग फुट का एक भूखंड आवंटित किया गया है जहां एनबीसीसी काम करेगा। चरक पालिका अस्पताल (सीपीएच) में मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी  और आपदा वार्ड का निर्माण प्रगति पर है और वित्त वर्ष 2022-23 के दौरान शुरू होने की संभावना है। 1000 एलएमपी ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित किया गया है, जिसे मेडिकल गैस पाइपलाइन सिस्टम (एमजीपीएस) के साथ जोड़ दिया गया है।

4000 टैबलेट वितरित करेगी एनडीएमसी
कोविड की स्थिति को देखते हुए सभी छात्रों के लिए घर पर स्कूली शिक्षा सुनिश्चित करवाने के लिए अगले वित्त वर्ष में 4000 टैब्लेट और वितरित करने की योजना है जिससे विद्यार्थी ऑनलाइन भी शिक्षा ग्रहण कर सके। 2022-23 के दौरान विभिन्न परियोजनाएं शुरू की जाएंगी जैसे कक्षा 01 से 05 तक की सभी प्राथमिक कक्षाओं को स्मार्ट कक्षाओं में परिवर्तित किया जाएगा। 5 एनडीएमसी/नवयुग स्कूलों में पांच साइकिलिंग क्लब स्थापित किए जाएंगे। विज्ञान पार्क, पेपर रीसाइक्लिंग प्लांट सीबीएसई द्वारा मान्यता प्राप्त व्यावसायिक पाठ्यक्रमों की शुरूआत और सभी एनडीएमसी/नवयुग स्कूलों में भाषा विज्ञान प्रयोगशालाएं बनाने का प्रस्ताव है।
 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.